Home उत्तराखंड ऑल वेदर रोड निर्माण – रुद्रप्रयाग में प्रभावितों ने एनएच कार्यालय पर...

ऑल वेदर रोड निर्माण – रुद्रप्रयाग में प्रभावितों ने एनएच कार्यालय पर की तालेबंदी

882
0
SHARE

रुद्रप्रयाग। ऑल वेदर रोड से प्रभावित व्यापारियों, भवन एवं भूस्वामियां ने भूमि अधिग्रहण एवं मुआवजा में मानकों में बदलाव की मांग को लेकर संघर्ष समिति के बैनर तले एनएच मुख्यालय सिल्ली सौरगढ़ का घेराव कर तालाबंदी की। प्रभावितों ने वार्ता को आये एडीएम को उल्टे पांव वापस भेजते हुए केवल डीएम से वार्ता करने की मांग की।

रुद्रप्रयाग से गौरीकुण्ड तक बनने वाली ऑल वेदर रोड से प्रभावित व्यापारियों, भवन एवं भू-स्वामियों ने एनएच एवं जिला प्रशासन पर प्रभावितों को गुमराह कर आपस में लड़वाने का आरोप लगाते हुए आंदोलन करने की चेतावनी दी थी। प्रभावित दस बजे सिल्ली बाजार में एकत्रित हुए। जहां से वे जुलूस की शक्ल में एनएच मुख्यालय सौरगढ़ पहुंचे। प्रभावितों में तिलवाड़ा, सिल्ली, सौरगढ़, अगस्त्यमुनि, विजयनगर, बेडूबगड़, चन्द्रापुरी, भीरी आदि के ग्रामीण शामिल थे। प्रभावितों ने एनएच मुख्यालय पर पहुंच कर जमकर नारेबाजी करते हुए सभी कक्षों से अधिकारियों तथा कर्मचारियों को बाहर करते हुए तालेबंदी की और वहीं धरने पर बैठ गये। प्रभावितों से वार्ता करने आये नोडल अधिकारी एडीएम तीर्थपाल को उनके तीव्र आक्रोश का सामना करना पड़ा।

धरनास्थल पर हुई सभा को संबोधित करते हुए संघर्ष समिति के अध्यक्ष रमेश बेंजवाल ने 13 सूत्रीय मांग पत्र को पढ़कर सुनाया जिसके अनुसार मुआवजा वितरण के लिए मेट्रो सिटी वाले मानकों के अनुरूप देने की मांग की गई। प्रभावित भवनों के मुआवजे में भूमि विकास पर हुए खर्चे को भी जोड़ा जाय। व्यावसायिक भवनों पर वर्षों से रोजगार कर रहे दुकानदारों को भी मुआवजा दिया जाय। 

संघर्ष समिति के संयोजक विक्रम कण्डारी ने कहा कि ऑल वेदर रोड में भूमि अधिग्रहण अधिनियम 2013 के मानकों के अनुसार मुआवजा वितरण किया जाय।

तिलवाड़ा व्यापार संघ के अध्यक्ष सुरेन्द्र प्रसाद सकलानी ने कहा कि ऑल वेदर रोड के कारण अधिसंख्य बाजार प्रभावित हो रहे हैं, लेकिन व्यापारियों को किसी भी प्रकार का मुआवजा नहीं दिया जा रहा है, जिससे प्रभावित व्यापारियों के सम्मुख रोजी रोटी का संकट गहरा जायेगा।

सभा को समिति के उपाध्यक्ष बृजभूषण वशिष्ठ, सचिव शत्रुघन नेगी, सहसंयोजक हर्षवर्धन बेंजवाल, तिलवाड़ा व्यापार संघ अध्यक्ष सुरेन्द्र सकलानी आदि ने भी संबोधित किया। इस दौरान सिल्ली एवं तिलवाड़ा बाजार पूर्ण रूप से बंद रहे।

मामले में ऑल वेदर रोड के नोडल अधिकारी एडीएम तीर्थपाल का कहना है कि प्रभावितों की अधिकतर मांगे केंद्र स्तर की हैं जिन्हें वे पहले ही उच्च स्तर पर भेजा जा चुका है। उन्होंने कहा कि जैसे भी निर्देश आयेंगे उसी आधार पर मुआवजा दिया जायेगा।

key Words : Uttarakhand, Rudraprayag, All Weather Road construction, Affected, Dimand

LEAVE A REPLY