Home उत्तराखंड पंचायत प्रतिनिधि बोले ‘‘ ज्ञानवर्द्धन करने वाला रहा क्षमता विकास प्रशिक्षण ’’

पंचायत प्रतिनिधि बोले ‘‘ ज्ञानवर्द्धन करने वाला रहा क्षमता विकास प्रशिक्षण ’’

239
0
SHARE

डीबीएल संवाददाता/ पौड़ी/ थैलीसैंण।

थैलीसैंण में आयोजित ग्राम ग्राम पंचायत प्रधानों एवं पंचायत सदस्यों के लिए आयोजित क्षमता विकास प्रशिक्षण के दूसरे दिवस में प्रशिक्षकों एवं विभाग की ओर से महत्वपूर्ण जानकारियां साझा की गईं। प्रशिक्षण सत्रों के दौरान प्रतिभागियों ने अपनी ग्राम पंचायत में के अनुभवों के बारे में बताते हुए शंकाओें एवं सवालों का निदान भी किया।

पंचायती राज मंत्रालय भारत सरकार के तत्वावधान में विकासखंड थैलीसैंण के ब्लाॅक सभागार में सभागार में ग्राम प्रधानों के लिए आयोजित दो दिवसीय प्रशिक्षण का शनिवार को समापन हो गया। प्रशिक्षण के दूसरे दिन एडीओ पंचायत जयदीप रावत ने सभी के स्वागत के साथ प्रशिक्षण का शुभारंभ किया। उन्होंने प्रशिक्षणार्थियों से पूरी तन्मयता के साथ प्रशिक्षण में सहभागिता करने का अनुरोध करते हुए प्रशिक्षकों द्वारा बताये जाने वाले विषयों को बेहद महत्वपूर्ण बताया।

सत्र के दूसरे दिन अभिव्यक्ति सोसाइटी के प्रशिक्षकों ने महिला विकास एवं सुरक्षा को लेकर संवैधानिक प्रबंधन, सूचना का अधिकार, आपदा प्रबंधन, जैव विविधता, मनरेगा योजना के अंतर्गत पंचायत भवनों का रखरखाव, रेखीय विभागों की विभिन्न विकास योजनाओं आदि के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई।

प्रशिक्षण के समापन अवसर पर विकासखंड अधिकारी डीपी आर्य ने प्रशिक्षण में शामिल सभी पंचायत प्रतिनिधियों का आभार जताते हुए सीखी गई जानकारियों को अपनी-अपनी ग्राम पंचायतों में अमल में लाने की अपेक्षा जताई। ग्राम प्रधान बसंती देवी, ज्योति, विद्या देवी, विनीता, ममता, अमराव सिंह, मनोज, दिलवर सिंह, सोहन लाल आदि सहित विभिन्न ग्राम पंचायतों के प्रधानों, उप प्रधानों एवं पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रशिक्षण में दी गई जानकारियों को ज्ञानवर्द्धक बताया।

LEAVE A REPLY