Home व्यक्तित्व सुनिता देवी के हौसले को सलाम

सुनिता देवी के हौसले को सलाम

859
0
SHARE

रुद्रप्रयाग। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर डॉ जैक्सवीन नेशनल इण्टर कॉलेज गुप्तकाशी की प्राचार्य सुनीता देवी वशिष्ट को उनकी उत्कृष्ट सेवाओं के लिए सम्मानित किया गया। विद्यालय की मुखिया के रूप में उन्होंने 2013 की आपदा में छात्रों के सहयोग से सराहनीय कार्य करने के साथ ही क्षेत्र में संस्कृति संरक्षण एवं गरीब कन्याआें की शिक्षा व शादियों में विशेष सहयोग प्रदान किया है।

प्राचार्य सुनीता देवी का मानना है कि यदि पहाड़ से पलायन रोकना है तो शिक्षा के केन्द्रों को साधन सम्पन्न एवं गुणवत्तापरक बनना आवश्यक है। सुदूर अंचलों में आज विद्यार्थियों को शैक्षिक एवं सह-शैक्षिक गतिविधियों के माध्यम से शिक्षित करना होगा जिससे उनमें शहरी विद्यालयों के छात्र-छात्राओं से आगे बढ़कर मुकाबले का हौसला रहे। सुनीता देवी की कड़ी मेहनत और लगन के चलते उनके विद्यालय के अनेक विद्यार्थियों का चयन सैनिक स्कूल व जवाहर नवोदय विद्यालय में हुआ है। साथ ही खेल प्रतियोगिताओं में भी विद्यार्थियों द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिभाग जारी है।

सुनीता देवी के मार्गदर्शन में ही वर्ष 2013 की आपदा में हजारों यात्रियों को विद्यालय में आश्रय दिया गया।  पूर्व में 2016 के राज्य स्थापना दिवस पर भी डॉ जैक्सवीन नेशनल स्कूल को मुख्यमंत्री के हाथों सम्मानित किया गया।  उत्कृष्ट शैक्षिक परिणामों के लिए मानव संसाधन विकास मंत्री भारत सरकार की ओर से भी प्रशंसा पत्र दिया गया। सुनीता देवी ने पुरस्कार को अपने विद्यालय परिवार को समर्पित करते हुए कहा कि यह पुरस्कार विद्यालय की सम्पूर्ण टीम के उत्कृष्ट कार्यों का प्रतिफल है।

Key Words : Uttarakhand, Rudraprayag, Education, Students, goddess

LEAVE A REPLY