Home उत्तराखंड हथकरघा और हस्तशिल्प के प्रोत्साहन को सजेगा दून हाट

हथकरघा और हस्तशिल्प के प्रोत्साहन को सजेगा दून हाट

804
0
SHARE

देहरादून/डीबीएल संवाददाता। हथकरघा और हस्तशिल्प को बढ़ावा देने के लिए नावार्ड योजना के अन्तर्गत नव निर्मित दून हाट में बुधवार को उत्तराखण्ड हथकरघा एवं हस्तशिल्प विकास परिषद, उद्योग निदेशालय, देहरादून द्वारा प्रेसवार्ता की गयी। प्रेसवार्ता को उत्तराखण्ड हथकरघा एवं हस्तशिल्प विकास परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक उद्योग, सुधीर नौटियाल ने संबोधित किया।

दिल्ली हाट की तर्ज पर दून हाट को एक ऐसे स्थान के रूप में विकसित किया गया है जहां देश-विदेश के पर्यटकों को राज्य के स्थानीय उत्पादों के साथ-साथ संस्कृति कला एंव विशिष्टताओं से परिचित होने का अवसर मिल सकें।

दून हाट में स्थानीय उत्पादों के विपणन प्रोत्साहन हेतु 14 स्टॉलध्दुकानों का निर्माण किया गया है, जिसमें समय-समय पर राज्य के विभिन्न जनपदों के लघु उद्यमियों, बुनकर एवं शिल्पियों को स्थानीय उत्पादों के विपणन प्रोत्साहन हेतु स्थान उपलब्ध कराया जायेगा। साथ ही हिमाद्रि एवं हिलांस के स्थायी इम्पोरियम स्थापित किये जा रहे है।

प्रेसवार्ता के दौरान निदेशक सुधीर नौटियाल ने बताया कि आईटी पार्क देहरादून में नवनिर्मित दून हाट नावार्ड द्वारा वित्तपोषित है। जिसका लोकार्पण मुख्य अतिथि त्रिवेन्द्र सिंह रावत, मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड सरकार द्वारा बुधवार 12 दिसंबर को सांय 5ः00 बजे किया जायेगा। इस अवसर पर दून हाट में 12 दिसंबर से 16 दिसंबर तक प्रदर्शनी का भी आयोजिन भी किया जा रहा है, जिसमें बागेश्वर, उत्तरकाशी, चमोली, पिथौरागढ़, नैनीताल, टिहरी गढ़वाल, ऊधमसिंहनगर आदि जनपदों के विशिष्ट एवं स्थानीय उत्पाद विपणन हेतु उपलब्ध होगें। उन्होंने बताया कि इस तरह के हाट पिथौरागढ़, काशीपुर एवं चमोली में भी बनाये जा रहे हैं।

प्रेसवार्ता में निदेशक उद्योग निदेशालय, सुधीर नौटियाल ने बताया कि दून हाट में समय-समय पर वार्षिक कैलेण्डर तैयार कर थीम बेस पर आधारित प्र्रर्दशनियों का आयोजन होते रहेंगे। जिसमें उत्तराखण्ड के अतिरिक्त अन्य प्रान्तों के उत्पादों हेतु विपणन के अवसर प्राप्त होगें। नौटियाल ने कहा कि दून हाट को एक मोस्ट विजिटिंग डेस्टिनेशन के रूप में विकसित किया जायेगा।

सुधीर नौटियाल ने प्रेसवार्ता में कहा कि लोकार्पण समारोह में सिद्ध हस्तशिल्पियों को मुख्यमंत्री द्वारा उत्तराखण्ड राज्य शिल्प रत्न पुरस्कार भी वितरित किये जायेगें। प्रेसवार्ता के दौरान शैली डबराल उपनिदेशक उद्योग निदेशालय, केसी चमोली मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY