Home उत्तराखंड डामटा बस हादसा: घायलों की जान बचाने वाले जाबांज चैनलाल को पुरस्कृत...

डामटा बस हादसा: घायलों की जान बचाने वाले जाबांज चैनलाल को पुरस्कृत करने की मांग-आर्यन ग्रुप के छात्रों ने डीएम को भेजा ज्ञापन

889
0
SHARE

कुलदीप शाह/उत्तरकाशी। बीती 18 नवम्बर को यमुनोत्री हाईवे पर डामटा के पास बस दुर्घटना में खुद गम्भीर घायल होने के बाबजूद अपने दर्द की परवाह किए बिना बस में सवार घायल सहयात्रियांे की जान बचाने वाले बहादुर सैनिक चैनलाल को पुरस्कृत करने की मांग उठने लगी है। इस मांग को लेकर राजकीय महाविद्यालय बड़कोट के छात्र संघ महासचिव राकेश राणा के नेतृत्व में आर्यन छात्र संगठन ने उपजिलाधिकारी बड़कोट के माध्यम से जिलाधिकारी उत्तरकाशी को ज्ञापन भेजा है।

ज्ञापन में कहा गया है कि 18 नवम्बर को डामटा के निकट प्राइवेट बस दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से 14 लोगों की मौत हुई व 14 घायल हो गए थे। घायलों में घर छुट्टी पर आए भारतीय सेना के जवान ग्राम बसराली तहसील बड़कोट निवासी बहादुर सैनिक चैनलाल भी शामिल थे। चैनलाल ने स्वयं घायल होने के बाबजूद बचाव राहत कार्य के दौरान करीब आधा दर्जन घायलों को रेस्कयू कर सुरक्षित बचाया, जो बहादुरी भरा व सराहनीय कार्य है। ज्ञापन में यह भी कहा गया है कि हादसे के बाद गम्भीर रूप से घायल चैनलाल को हेलीकॉप्टर से एम्स ऋषिकेश भेजा गया। जहां से उन्हें दून के गढ़ी कैंट स्थित सैनिक अस्पताल रैफर किया गया।

ज्ञापन में जिलाधिकारी से मांग की गई है कि जांबाज चैनलाल को कई लोगों की जान बचाने के सराहनीय कार्य के लिए सम्मानित किया जाए। ज्ञापन में छात्र संघ महासचिव राकेश राणा, उपाध्यक्ष नितेश मंत्रीयाण, भूपेंद्र सिंह, ऋषभ, अमित आर्य आदि छात्र शामिल थे।

LEAVE A REPLY