Home उत्तराखंड जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की पहल – आत्महत्या निवारण विषय पर छात्रों...

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की पहल – आत्महत्या निवारण विषय पर छात्रों को किया जागरूक

583
0
SHARE

चमोली/डीबीएल संवाददाता। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण चमोली के सौजन्य से कस्तूरबा गांधी आवासीय स्कूल घाट में आत्महत्या निवारण दिवस के मौके पर एक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। इस अवसर पर छात्रों को समाज में बढ़ते नकारात्मक माहौल से आत्महत्या जैसी घटनाओं को रोकने के प्रति जागरूक किया गया।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण चमोली के सचिव रविप्रकाश शुक्ला ने कस्तूरबा गांधी आवासीय स्कूल में शिविर का शुभारंभ करते हुए बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के सहयोग से प्रतिवर्ष 10 सितंबर को आत्महत्या निवारण दिवस का आयोजन किया जाता है। उन्होंने कहा कि यह बेहद दुख का विषय है कि परिवार या समाज से उत्पन्न नकारात्मक भावों के चलते हर साल दुनिया भर में करीब 8 लाख लोग मौत को गले लगा लेते हैं। उन्होंने आह्वान किया कि लोगों के बीच इस विषय पर बातचीत एवं जागरूकता पैदा कर लोगों में आत्महत्या की प्रवृत्ति को को रोका जा सकता है।

शिविर में राइंका एवं एसजीआरआर पब्लिक स्कूल घाट के प्रधानाचार्य ने छात्रों को आत्महत्या के कारणों और निवारण पर विस्तार से बताया। जिला विधिक सेवा के कार्यकर्ताओं ने भी इस दौरान अपने विचार साझा किए।

इस मौके पर जिला विधिक सेवा के मथुरा प्रसाद त्रिपाठी, घनश्याम मैंदोली, राकेश कुमार, सुखवीर रौतेला, देवेश्वरी बिष्ट, संगीता रौतेला, बदरी प्रसाद, चक्रधर पुरोहित, दलवीर लाल, पुष्पा देवी, पुलिस प्रशासन से जुड़े कार्मिकों सहित समाजिक सरोकारों से जुड़े सूरजमणी मैंदोली, विजय प्रसाद आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY