Home क्राइम गंभीरअपराधियों के खिलाफ अभियोजन में न हो लापरवाही – एडीजीपी

गंभीरअपराधियों के खिलाफ अभियोजन में न हो लापरवाही – एडीजीपी

647
0
SHARE

देहरादून। अपर पुलिस महानिदेशक अपराध एवं कानून व्यवस्था व निदेशक अभियोजन अशोक कुमार ने अभियोजन में गुणवत्ता लाने एवं अभियोजन अधिकारियों की कार्यक्षमता बढ़ाये जाने के सम्बन्ध में पुलिस मुख्यालय सभागार में सम्पूर्ण प्रदेश के अभियोजन अधिकारियों की एक बैठक ली। बैठक में कानून एवं वित्त सम्बंधी जानकारियों भी दी गईं।

एडीजीपी अशोक कुमार ने अधिकारियों को सजा का प्रतिशत बढ़ाने के निर्देश दिये और कहा कि अभियोजन की लापरवाही की वजह से गम्भीर प्रकार के अपराधों में कोई अभियुक्त रिहा न होने पाये ऐसा सुनिश्चित करना होगा।सभी अभियोजन अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि पेशेवर अपराधों जैसे चोरी, लूट, नकबजनी एवं गैंगस्टर की पैरवी न्यायालय में सही से की जाये। नामिका अधिवक्ता जो सही से पैरवी नहीं कर रहे है उन्हें हटाने के लिये शासन से पत्राचार किया जाये। अधिक से अधिक मामलों में न्यायालयों में अपील की जाये। मालखानों में लम्बित पड़े माल मुकदमाती का निस्तारण अधिक से अधिक किया जाये। सजा का प्रतिशत बढ़ाया जाये। अभियोजित किये गये मामलों में विस्तार से चर्चा की व उनके कार्यों का मूल्यांकन कर निर्देश दिये कि अभियोजन की ओर से किसी भी मामले में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाय। जिन अधिकारियों का सजा प्रतिशत कम था, उन्हें सजा का प्रतिशत बढ़ाने की सख्त हिदायत दी गयी।

बैठक में हरिविनोद जोशी, अपर निदेशक (विधि), अभियोजन निदेशालय सहित अन्य अभियोजन अधिकारी उपस्थित रहे।

Key Words : Uttrakhand, Dehradun, ADGP, Meeting, prosecutor Officers

LEAVE A REPLY