Home उत्तराखंड डीजीपी की वीडियो कान्फ्रेसिंग – महिलाओं के विरुद्ध अपराध मामले में फौरन...

डीजीपी की वीडियो कान्फ्रेसिंग – महिलाओं के विरुद्ध अपराध मामले में फौरन होगी कार्यवाही

281
0
SHARE

डीबीएल ब्यूरो

देहरादून। पुलिस मुख्यालय स्थित सभागार में पुलिस महानिदेशक अनिल के रतूड़ी ने वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से अफसरों को कोरोना काल में प्रवर्तन स्तर बढ़ाने, आगामी त्यौहार दशहरा, दुर्गा पूजा, बारह बफात, वाल्मीकि जयंती, पिरान कलियर व पूर्णागिरी मेला के विषय में आवश्यक निर्देश दिये। महानिदेशक अपराध एवं कानून व्यवस्था अशोक कुमार ने अफसरों को निर्देशित किया कि सूबे में महिलाओं के विरूद्ध अपराधों का तुरंत पंजीकरण करते हुए उस पर कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि बलात्कार से सम्बन्धित शिकायत में क्षेत्राधिकार न होने पर भी एफआईआर अवश्य लिखी जाए।

मंगलवार को पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड अनिल के रतूड़ी ने कोविड19 के दौरान सरहानीय कार्य करने के लिए समस्त पुलिसकर्मियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि कर्तव्य पालन में हमारे 1519 पुलिसकर्मी कोरोना से संक्रमित हुए जिसमें से 1381 पुलिसकर्मी स्वस्थ हो गए हैं और 1243 पुलिसकर्मी वापस ड्यूटी करने लगे हैं। इस लड़ाई में 2 पुलिसकर्मी भी शहीद हुए हैं। वर्तमान में अनलाॅक के दौरान अभी कोविड19 की स्थिति यथावत बनी हुई है। इस चुनौती के दृष्टिगत हमें इससे बचाव हेतु सभी प्रकार की सावधानियों को जीवन में शामिल करना है।

महानिदेशक अपराध एवं कानून व्यवस्था अशोक कुमार ने सभी जनपद प्रभारियों को महिलाओं के विरूद्ध अपराधों के सम्बन्ध में संवेदनशील रहने हेतु निर्देशित किया गया। उन्होंने कहा कि महिलाओं के विरूद्ध अपराधों का तुरंत पंजीकरण करते हुए उस पर कार्यवाही की जाए, जिससे पीड़ित को रिलीफ मिल सके। उन्होंने अफसरों को निर्देश दिए कि बलात्कार से सम्बन्धित शिकायत में क्षेत्राधिकार न होने पर भी एफआईआर अवश्य लिखी जाए।

वीडियो कान्फ्रेसिंग के दौरान पुलिस महानिरीक्षक पीएम वी मुरूगेशन, पुलिस महानिरीक्षक अपराध एवं कानून व्यवस्था एपी अंशुमान, पुलिस महानिरीक्षक कार्मिक पुष्पक ज्योति आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY