Home उत्तराखंड दयारा बुग्याल में इस बार नहीं खेल सकेंगे मक्खन की होली

दयारा बुग्याल में इस बार नहीं खेल सकेंगे मक्खन की होली

165
0
SHARE

डीबीएल संवाददाता/ उत्तरकाशी । समुद्र तल से 11 हजार की फीट की ऊंचाई पर स्थित प्रसिद्ध दयारा बुग्याल में इस वर्ष पर्यटकों व स्थानीय लोगों को दूध -मक्खन की की होली (बटर फेस्टिवल) खेलने का अवसर नहीं मिल पायेगा। आयोजक संस्था दयारा पर्यटन उत्सव समिति व ग्राम पंचायत रैथल ने वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए इस वर्ष 15 और 16 अगस्त को आयोजित होने वाले पारंपरिक अढूड़ी त्योहार ‘बटर फेस्टिवल’  को रद करने का फैसला लिया है। यानी इस बार दूध-मक्खन की होली नहीं खेली जा सकेगी। ग्राम पंचायत रैथल में दयारा पर्यटन उत्सव समिति व ग्राम पंचायत प्रतिनिधियों व ग्रामीणों की एक बैठक आयोजित की गई। जिसमें दयारा बुग्याल में आयोजित होने वाले बटर फेस्टिवल पर चर्चा की गई। बैठक में देश, प्रदेश व जनपद में तेजी से पैर पसार रहे कोरोना माहामारी के कारण पैदा हुए हालातों को देखते हुए सर्व सम्मति से इस वर्ष पारंपरिक उत्सव अढूड़ी त्योहार ‘बटर फेस्टिवल का आयोजन न करवाने का फैसला लिया गया। दयारा पर्यटन उत्सव समिति के अध्यक्ष मनोज राणा ने कहा कि यह मुश्किल समय है और ऐसे समय में भीड़ जुटने वाले किसी भी तरह के कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि बटर फेस्टिवल का आयोजन चाहे छोटे या बड़े स्तर किया जाए लोग जरूर आएंगे, ऐसे में महामारी के फैलने का खतरा भी बना रहेगा। उन्होंने वैश्विक महामारी कोरोना के चलते देश दुनिया में कई बड़े व महत्वपूर्ण कार्यक्रम टाले गये हैं, तो ऐसे में पारंपरिक रूप से बनाए जाने वाले इस बटर फेस्टिवल का इस वर्ष आयोजन करना संभव नहीं होगा। राणा ने कहा कि बीते सालों तक भव्य रूप से मनाए जाने वाले इस बटर फेस्टिवल में देश भर से हजारों लोग प्रतिभाग व दयरा की सैर करने पहुंचते रहे हैं। इस त्योहार का लोग भी बेसब्री से इंतजार करते हैं, लेकिन मौजूदा परिस्थिति इस तरह के आयोजन की अनुमति नहीं देती है।इस मौके पर ग्राम प्रधान सुशीला राणा, पंचमालगुजार, उप प्रधान विजय सिंह राणा, पंकज कुशवाल, सुमित रतूड़ी, महेंद्र राणा आदि मौजूद थे। 

LEAVE A REPLY