Home उत्तराखंड योग करने से मानसिक स्वास्थ्य भी रहता है दुरुस्त : रेनु

योग करने से मानसिक स्वास्थ्य भी रहता है दुरुस्त : रेनु

797
0
SHARE

देहरादून। कुसुम कोचर बेहद गंभीर शारीरिक बीमारी से पीड़ित थीं जिसके चलते उनके मानसिक स्वास्थ्य पर भी नकारात्मक असर पड़ रहा था। उन्होंने योगा क्लास ज्वाॅइन की और कुछ महीने बाद उनका खोया हुआ आत्मविश्वास जाग उठा अब वह बिलकुल स्वस्थ हैं और हर रोज योगा क्लास में आती हैं। यह अनुभव साझा करते हुए योग प्रशिक्षिका रेनु वर्मा रोहिला बताती हैं कि योग को जीवन की दैनिक क्रिया का अंग बनाकर व्यक्ति न केवल फिट रह सकता है अपितु जीवन के प्रति सोचने के नजरिये में भी बदलाव लाया जा सकता है।

दून के तिलक रोड स्थित हर प्रसाद माॅर्डन स्कूल के छात्र-छात्राओं को पतंजलि योग धाम से प्रशिक्षण प्राप्त प्रशिक्षिका रेनु रोहिला ने एक वर्ष पूर्व निःशिुल्क योग प्रशिक्षण देना प्रारम्भ किया। वह बताती हैं कि शुरूआती दौर में योग क्लास में बच्चों ने कम रुचि दिखाई, लेकिन अब सभी बच्चे पूरी तन्मयता के साथ योग करते हैं। वह बताती हैं कि बच्चों के अभिभावकों का कहना है कि योगा करने से अब उनके बच्चे बीमार कम पड़ते हैं और स्वस्थ रहते हैं।

प्रशिक्षिका रेनु वर्मा बताती हैं कि बच्चों की योग क्लास को देखकर स्कूल के आस-पास रहने वाले परिवारों की महिलाओं के योग सिखाने के अनुरोध को वह टाल न सकीं और अब सुबह के पाली में वह महिलाओं को भी निःशुल्क योग के तरीके सिखा रही हैं। वह कहती हैं आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में शारीरिक व मानसिक रूप से निरोग रहने के लिए योग बहुत जरूरी है।

स्कूल प्रांगण में बच्चों ने रोपे पौधे:

मंगलवार को योग प्रशिक्षिका रेनु वर्मा की अगुवाई में हर प्रसाद माॅर्डन स्कूल के छात्र-छात्राओं और योग सीख रहीं महिलाओं ने फलदार व पुष्प प्रजाति के पौधे रोपे। इस दौरान सभी ने अपने आसपास के लोगों को अधिक से अधिक पौध रोपण करने के लिए जागरूक करने का संकल्प भी लिया।

LEAVE A REPLY