Home उत्तराखंड उत्तराखंड राज्य स्थापना दिवस आयोजन – विकास के लिए सीएम ने किया...

उत्तराखंड राज्य स्थापना दिवस आयोजन – विकास के लिए सीएम ने किया समर्पित होकर कार्य करने का आह्वान

747
0
SHARE

राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को राज्य स्थापना दिवस की दी बधाई :
पुलिसकर्मियों को राष्ट्रपति पुलिस पदक व पुलिस पदक से अलंकृत किया गया :

देहरादून। राज्य स्थापना दिवस पर राज्यपाल डॉ. कृष्ण कांत पाल ने पुलिस लाईन में आयोजित रैतिक परेड की सलामी ली। राज्यपाल ने सराहनीय कार्य करने पर पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को राष्ट्रपति पुलिस पदक व पुलिस पदक से सम्मानित किया। राज्यपाल डॉ. के.के.पाल व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा प्रकाशित पत्रिका का भी विमोचन किया। मुख्यमंत्री ने राज्य स्थापना दिवस की बधाई देते हुए सभी अधिकारियों-कर्मचारियों और आमजन से प्रदेश के विकास हेतु समर्पित होकर काम करने का आह्वान किया।

गुरूवार को इस अवसर पर राज्यपाल डॉ.कृष्ण कांत पाल ने राज्य निर्माण के सभी ज्ञात-अज्ञात, अमर शहीदों व आंदोलनकारियों को श्रद्धापूर्वक नमन करते हुए राज्यवासियों को राज्य स्थापना के 17 वर्ष पूर्ण होने पर बधाई और शुभकामनाएं दीं। राज्य स्थापना दिवस पर शानदार परेड के लिए बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि शांति व कानून व्यवस्था, प्रत्येक सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता होती है। प्रदेश का विकास मूलरूप से वहां की कानून व्यवस्था पर निर्भर करता है। इसमें पुलिस की अहम भूमिका होती है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि भविष्य में भी राज्य की कानून व शान्ति व्यवस्था को बनाये रखने के अपने वायदे को निभाते हुए पुलिस, राज्य के समग्र विकास में सबसे मजबूत कड़ी के रूप में भी अपनी भूमिका निभाती रहेगी। उत्तराखंड में दूसरे राज्यों की तुलना में अपराध बहुत कम हैं। इसके लिए राज्य के शांतिप्रिय व सरल हृद्य नागरिक बधाई के पात्र हैं।

दुर्गम स्थलों पर हो बुनियादी सुविधाओं के विकास का लक्ष्य – राज्यपाल

राज्यपाल ने कहा कि विगत 17 वर्षों में उत्तराखंड ने अन्य राज्यों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया है। बार-बार प्राकृतिक आपदाओं के बावजूद उत्तराखंड वासियों की दृढ़ संकल्प शक्ति से राज्य ने अपनी एक विशिष्ट पहचान बनाई है। आज राज्य में हमारे सामने बड़ी चुनौती, दुर्गम व दूर-दराज के इलाकों में बुनियादी सुविधाओं का विकास करना है। इसके लिए शिक्षा, स्वास्थ्य व पर्वतीय खेती पर फोकस करना होगा। राज्य सरकार गम्भीरता से इस दिशा में काम कर रही है। पर्वतीय क्षेत्रों से पलायन को रोकने के लिए ग्रामीण विकास व पलायन आयोग का गठन करते हुए इसका मुख्यालय पौड़ी में स्थापित किया गया है। नीतिगत निर्णय लेते हुए मैदानी क्षेत्रों से बड़ी संख्या में डॉक्टर पर्वतीय क्षेत्रों में नियुक्त किए गए हैं। किफायती दाम पर दवा उपलब्घ करवाने के लिए 100 जन औषधि केंद्र खोले जा रहे हैं। टेली-मेडिसिन व टेली-रेडियोलॉजी का प्रयास किया जा रहा है। नए चिकित्सकों की नियुक्ति करने के लिए भी हर सम्भव कोशिश की जा रही है। शिशु तथा मातृत्व मृत्युदर को न्यूनतम करने पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।

राज्य आंदोलन के शहीदों को सीएम ने किया नमन :

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शहीद राज्य आन्दोलनकारियों को नमन् करते हुए प्रदेशवासियों को स्थापना दिवस की बधाई दी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार शुचिता, पारदर्शिता व श्रेष्ठता के आधार पर कार्य कर रही है। राज्य के हित में अनेक पहले की गई है जिनका आने वाले समय में अच्छा परिणाम देखने को मिलेगा। बेहतरीन परेड के लिए बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था को बनाए रखने में उत्तराखण्ड पुलिस अच्छा कार्य कर रही है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि राज्य के सभी अधिकारी व कर्मचारी राज्य के विकास के लिए प्रतिबद्वता के साथ काम करेंगे।

सीएम ने किया ‘‘संकल्प से सिद्धि तक………..’’ पुस्तिका का विमोचन :

मुख्यमंत्री ने गुरूवार को सूचना भवन में आयोजित समारोह में सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग की विकास पुस्तिका ‘‘संकल्प से सिद्धि तक………..’’ का विमोचन किया। राज्य स्थापना दिवस की 17वीं वर्षगांठ पर आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सहकारिता विभाग द्वारा संचालित ‘दीन दयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना’ का देहरादून में शुभारम्भ करते हुए किसानों को स्वीकृत ऋण के चेक भी वितरित किये।

विभूतियों को किया गया सम्मानित :

मुख्यमंत्री ने वर्ष 2016-17 हेतु देवभूमि उत्तराखण्ड खेल रत्न पुरस्कार और देवभूमि उत्तराखण्ड द्रोणाचार्य पुरस्कार भी प्रदान किये। खेल रत्न पुरस्कार प्रसिद्ध महिला अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी एकता बिष्ट तथा द्रोणाचार्य पुरस्कार उनके कोच लियाकल अली को प्रदान किया गया। एकता बिष्ट की अनुपस्थिति में उनके माता-पिता ने यह पुरस्कार ग्रहण किया। इसी कार्यक्रम में ईको टास्क फार्स के शहीदों के परिजनों चन्द्रकला नेगी पत्नी स्व. राइफलमैन बिक्रम सिंह नेगी तथा राजेश्वरी देवी पत्नी स्व. राइफलमैन धर्मसिंह रावत को भी मुख्यमंत्री द्वारा सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में उत्तराखण्ड जल संस्थान के अधिशासी अभियंता विनोद चन्द रमोला को उनके दायित्वों के कुशल निर्वहन हेतु उनके विभाग द्वारा प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया।

Key Words : Dehradun, Uttarakhand, Establishment Day Organizing, Dedication to work

LEAVE A REPLY