Home उत्तराखंड उत्तराखण्ड ग्राम पंचायतों में ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन नीति बनाने वाला पहला राज्य...

उत्तराखण्ड ग्राम पंचायतों में ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन नीति बनाने वाला पहला राज्य बना

741
0
SHARE
दून की आठ ग्राम पंचायतों में कूड़ा प्रबन्धन इकाई का शुभारंभ :

देहरादून। राष्ट्रीय पंचायत दिवस के अवसर पर देहरादून जिले की भोगपुर ग्राम पंचायत में आयोजित कार्यक्रम के दौरान पंचायतीराज मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने कूड़ा उठान व्यवस्था का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड ग्राम पंचायतों में ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन की नीति बनाने वाला देश का पहला राज्य बन गया है।

पंचायतीराज मंत्री पाण्डेय ने कहा कि तीन चरणों में सभी ग्राम पंचायतों में डीपीआर बनाने का कार्य आगामी दो साल में पूर्ण कर लिया जायेगा। जिससे उत्तराखण्ड की प्रत्येक ग्राम कलस्टर अथवा ग्राम पंचायत स्तर पर कूडे़ का वैज्ञानिक तरीके से निस्तारण के साथ ही कूडे़ के विक्रय से ग्राम पंचायतों की आय बढ़ेगी। उन्होने कहा यह कार्य जनसहभागिता के आधार पर ही आगे बढ़ाया जा सकता है इसलिए इसमें लोगों की भागीदारी आवश्यक है। उन्होंने कूड़ा उठान के लिए दो गाड़ियों को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। 

सचिव पंचायतीराज मनीषा पंवार ने बताया कि इंडसइंड बैंक एवं पंचायतीराज विभाग के सहयोग से आठ गावोंं के भोगपुर कलस्टर जनपद देहरादून में ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन इकाई की स्थापना की गयी है। इस इकाई से आठ ग्राम पंचायतों के 3746 परिवारों एवं 19029 जनसंख्या के साथ कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कलस्टर स्तर पर पंचायतीराज अधिनियम 2016 के प्राविधानों के तहत संयुक्त कमेटी गठित की गयी है इस कमेटी द्वारा ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन इकाई की गतिविधियों को संचालित किया जाना है। इसके लिए तीन साल के लिए वित्तीय सहयोग इस कार्य इंडसइंड बैक द्वारा दिया जा रहा है। अपशिष्ट प्रबन्धन के लिए प्रत्येक परिवार से उपयोग शुल्क पंचायतों द्वारा निर्धारित किया जायेगा।

इंडसइंड बैक के कंट्री प्रमुख रवि हरजाई ने कहा कि यह ग्राम पंचायतों के कलस्टर स्तर पर ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन का यह पहला मॉडल होगा इससे अन्य पंचायतों, राज्यों को भी प्रेरणा मिलेगी। कार्यक्रम अवधि में अपशिष्ट प्रबन्धन का एमआईएस पोटल भी लॉन्च किया गया। विभिन्न विभागों द्वारा राज्य एवं केन्द्र सरकार की योजनाओं से सम्बन्धित जानकारियों आमजनमानस तक पहॅूचाने के लिए स्टाल लगाये गये।

इस अवसर पर मुख्य मंत्री के सलाहकार धीरेन्द्र पंवार, अपर सचिव डॉ. राधव लंगर, निदेशक पंचायती राज एचसी सेमवाल, संयुक्त निदेशक डीपी देवराडी, इंडसइंड बैक के अद्वैत हेब्बार, वित्त नियंत्रक प्रतिमा पैन्यूली मुख्य विकास अधिकारी देहरादून, जिला स्तरीय अधिकारियों एवं कंसलटेन्ट विपिन कुमार, संदीप सेमवाल, संयुक्त समिति के पदाधिकारी सहित स्थानीय लोग मौजूद थे। कार्यकम का संचालन बुद्व देव शर्मा एवं प्रकाश रतूड़ी ने किया।

Key Words : Uttrakhand, Dehradun, Panchayti Raj, Bhogpur, Solid Waste Management

LEAVE A REPLY