Home शिक्षा और रोजगार छात्रों को क्षमता विकास और ध्यान केंद्रित करने के टिप्स दिए

छात्रों को क्षमता विकास और ध्यान केंद्रित करने के टिप्स दिए

673
0
SHARE

देहरादून। छात्रों की समझने की क्षमता को बढ़ाने के लिए ब्रेन गुरूकुल एवं इनस्प्रेशन के संयुक्त तत्वावधान में मिड ब्रेन एक्टीवेशन पर एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में विशेषज्ञों ने बढ़ती प्रतिस्पर्धा के दौर में स्मरण शक्ति बढ़ाने, ध्यान और एकाग्रता के लिए छात्रों को महत्वपूर्ण टिप्स दिए।

ईसी रोड स्थित एक होटल में आयोजित कार्यशाला में इनस्प्रेशन संस्था की निदेशक शालिनी भूषण ने ब्रेन एक्टीवेशन की तकनीक की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अकादमी छात्रों के लिए सॉफ्ट स्किल का प्रतिनिधित्व करती है। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से छात्रों में जहां कौशल की वृद्धि होती है तो उनमें आत्मविश्वास की भी भावना जागृत होती है। छात्रों का अधिकांश समय स्कूलों, ट्यूशन और कुछ अतिरिक्त पाठ्यक्रम गतिविधियों में बीतता है जिससे उनकी क्षमता के आंकलन का विकल्प जरूरी है। इस तकनीक के माध्यम से संतोषजनक क्षमता बढ़ाने पर भी काम किया जा सकता है।

कार्यशाला के दौरान ब्रेन गुरूकुल के ऑपरेशन हैड पंकज गुप्ता ने बताया कि परीक्षा के समय बच्चों को तनाव मुक्त करने के लिए उन्हें याद करने के तरीके भी इस कार्यक्रम में सिखाए जाते हैं। उन्होंने बताया कि यह एक पूरी तरह से मेमोरी बूस्टर प्रोग्राम है जिसके जरिए गणित में सूत्रों के आधार पर सरल और तेज तरीके से उच्च स्तर की गणना की तकनीक के बारे में जानकारी दी जाती है।

कार्यशाला में ब्रेन गुरूकुल में डीएमआईटी, मिड ब्रेन एक्टीवेशन, निमोनिक्स, हैंड राइटिंग, स्पीड राइटिंग, स्पीड रीडिंग, स्पीड लिसनिंग, वैदिक मैथ्स, यंग चैंप्स आदि कोर्सज के बारे में भी बताया गया। पंकज गुप्ता ने बताया कि लखनऊ, जयपुर, आगरा, इटावा, फरूखाबाद जैसे शहरों में मिड ब्रेन एक्टीवेशन से बच्चों के आत्म विश्वास में बेहद सकारात्मक परिवर्तन देखने को मिला है।

कार्यशाला के दौरान विशेषज्ञों ने प्रैक्टिल के तौर पर कई उदाहरण भी पेश किए। कार्यशाला में राजा राम मोहन रॉय स्कूल, आर्यन स्कूल, टचवुड स्कूल सहित कई स्कूल के छात्र-छात्राओं एवं अभिभावकों ने प्रतिभाग किया।
Key Words : Uttarakhand, Dehradun, Tips, Developing Ability, Focus

LEAVE A REPLY