Home शिक्षा और रोजगार फिल्म एवं टेलीविज़न के छोटे पाठ्यक्रमों को मिलेगा प्रोत्साहन 

फिल्म एवं टेलीविज़न के छोटे पाठ्यक्रमों को मिलेगा प्रोत्साहन 

557
0
SHARE

नई दिल्ली। केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि तकनीक ने पेशेवर फोटोग्राफी एवं कला फिल्मों को परिभाषित करने में अहम भूमिका निभाई है। तकनीक की बारीकियों के प्रति उभरती हुई युवा प्रतिभाओं के रूझान ने युवाओं की सीखने की क्षमता पर सकारात्मक प्रभाव डाला है। यह पहल एफटीआईआई के माध्यम से प्रौद्योगिकी एवं युवा प्रतिभा का सही मिश्रण सुनिश्चित करेगी। उन्होंने यह बात भारतीय फिल्म एवं टेलीविज़न संस्थान, पुणे और कैनन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर के दौरान कहीं।

भारतीय फिल्म एवं टेलीविज़न संस्थान और कैनन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के बीच यह समझौता ज्ञापन देशभर के विभिन्न कस्बे और शहरों में लघु अवधि के पाठ्यक्रमों के माध्यम से फिल्म शिक्षा को बढ़ावा देगा। एफटीआईआई की अनोखी पहल एसकेआईएफटी (स्किलिंग इंडिया इन फिल्म एंड टेलीविज़न) के अंतर्गत कौशल उन्मुख प्रकृति के ज़्यादातर पाठ्यक्रमों सहित विभिन्न पाठ्यक्रमों को प्रस्तावित किया गया है, जिनको राज्य सरकारों, विश्वविद्यालयों एवं विभिन्न शिक्षा संस्थानों के सहयोग से चलाया जाएगा।

डिजिटल छायाचित्र के क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त ब्रांड, कैनन एसकेआईएफटी कार्यक्रम के अंतर्गत चलाए जा रहे पाठ्यक्रमों के लिए प्रौद्योगिकी साझेदार के रूप में उच्च गुणवत्ता वाले कैमरे और अन्य आवश्यक उपकरण निःशुल्क उपलब्ध कराएगा। यह मदद इन पाठ्यक्रमों की फीस को कम करने में अहम योगदान देंगे और पाठ्यक्रम में शामिल छात्रों को उच्च गुणवत्ता वाले कैमरे एवं उपकरणों से सीखने और अपनी प्रतिभा को पंख लगाने का मौका देंगे। इस अवसर पर कैनन इंडिया के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी कज़ुतदा कोबायशी भी उपस्थित थे।

Key Words : New Delhi, Film and Television, Small Courses, Encouragement, State Governments

 

LEAVE A REPLY