Home उत्तराखंड स्वच्छता अभियान – पुरोला नगर पंचायत अध्यक्ष लोगों को दिखा रहे आईना

स्वच्छता अभियान – पुरोला नगर पंचायत अध्यक्ष लोगों को दिखा रहे आईना

661
0
SHARE

 जय प्रकाश राही

पुरोला/उत्तरकाशी।  वाहन चालक के अवकाश पर होने के कारण नगर पंचायत अध्यक्ष खुद कूड़ा गाड़ी चलाकर लोगों के घर पहुंचे। लोग यह देख कर हैरान रह गए।

स्वच्छ भारत अभियान के लिए कुछ कूड़ा बिखेरकर उसे साफ़ करते हुए फोटो खिंचवाने वाले नेता तो बहुत देखे होंगे. आज मिलिए एक सच्चे जनप्रतिनिधि से जो अपने क्षेत्र में जरूरत पड़ने पर कूड़ा गाड़ी चलाने से भी नहीं चूके.

 

ये हैं पुरोला नगर पंचायत अध्यक्ष हरिमोहन नेगी. आजकल धान रोपाई का सीजन है, इसी वजह से पुरोला क्षेत्र की कूड़ा गाड़ी चलाने वाले ड्राइवर भी छुट्टी लेकर धान की रोपाई में जुटे हैं. अब ऐसे वक्त में सफाईकर्मियों को छुट्टी पर जाने से तो रोका नहीं जा सकता था. एक पेंच यह भी था कि नगर पंचायत को अभी तक प्राधिकारपत्र न मिलने से कर्मचारियों के वेतन भुगतान में समस्याएँ आ रही थीं, ऐसे में दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी रखने की स्थिति नहीं बन पा रही है, लेकिन स्वच्छता भी जरूरी है।

इसके लिए उन्होंने मौके पर एक सच्चे जनप्रतिनिधि होने का परिचय दिया और कूड़ा इकठ्ठा करने वाली गाड़ी की ड्राइविंग सीट संभाल ली. हरिमोहन नेगी को लगा कि गाड़ी के ड्राइवरों के छुट्टियों से वापस लौट आने तक इन्तजार करने से नगर क्षेत्र में काफी कूड़ा इकठ्ठा हो जायेगा. नगर की सफाई के काम में किसी तरह की रुकावट न हो इसके लिए उन्होंने सफाईकर्मियों के सहयोग से कूड़ा इकठ्ठा करने के लिए खुद को प्रस्तुत किया. नगर पंचायत अध्यक्ष कुछ दिनों के लिए कूड़ा उठाने वाली गाड़ी के ड्राइवर बन गए. ऐसा भी नहीं है कि उनका यह कदम कोई अनुष्ठानिक कदम था, वे 4 दिन तक इस काम में सफाईकर्मियों के साथ जुटे रहे.

बातचीत में नगर पंचायत अध्यक्ष बताया कि जब हर सुबह अनपढ़ या कम शिक्षित व्यक्ति शहर का कूड़ा उठा सकते हैं तो सभी शिक्षित लोगों को भी अपने भीतर सार्वजनिक सफाई के लिए जागरूकता लानी चाहिए. हम अपने घर की रोजमर्रा साफ़-सफाई के काम कर सकते हैं तो बाहर के क्यों नहीं. आखिर सफाईकर्मी भी तो हमारी तरह इंसान ही हैं.वे कहते हैं जब अपने घर-आंगन का कूड़ा उठाना मेरे लिए शर्म का विषय नहीं है तो नगर का कूड़ा उठाना में कैसी शर्म, आखिर यह नगर यह देश भी तो मेरा आंगन ही है.’  

नगर पंचायत अध्यक्ष की इस पहलकदमी की क्षेत्र में चारों तरफ चर्चा है. लोगो उनके इस कदम की जमकर सराहना कर रहे है, स्वच्छता के प्रति नगर पंचायत अध्यक्ष के इस समर्पण से आम जनता में भी साफ सफाई के प्रति जागरूक होने का संदेश जा रहा है।

ये भी पढ़ें- 

उत्तराखंड: दो से ज्यादा बच्चों वाले नहीं लड़ पाएंगे पंचायत का चुनाव

एनएसए अजीत डोभाल ने यूथ फाउंडेशन के कार्य को सराहा

लांघा के ग्रामीण बोले जल संरक्षण मुहिम में बनेंगे सहभागी, नहीं होने देंगे पानी की बर्बादी

LEAVE A REPLY