Home संस्कृति एवं संभ्यता धर्मगुरूओं ने विश्व शांति को भाईचारे और सौहार्द पर दिया जोर

धर्मगुरूओं ने विश्व शांति को भाईचारे और सौहार्द पर दिया जोर

650
0
SHARE

देहरादून। वसुधैव कुटम्बकम की मंगलकामना के साथ सभी धर्म के धर्मगुरूओं ने एक स्वर में विश्व शांति के लिए समाज में भाईचारे और सौहार्द को जरुरी बताया। ‘वल्र्ड पीस मिशन” के तत्वावधान में “संस्कार परिवार देहरादून” द्वारा धार्मिक और सामाजिक संगठनो के सहयोग से समाज में परस्पर भाईचारे, अमन, प्रेम और सौहार्द के लिये यह आयोजन रखा गया था। आयोजन के दौरान तय किया गया कि प्रत्येक वर्ष अक्टूबर मास में सर्व धर्म सम्मलेन आयोजित किया जायेगा।

‘वल्र्ड पीस मिशन” अभियान के संस्थापक धर्मगुरु योगाचार्य बिपिन जोशी ने बताया की आज समपूर्ण विश्व आतंकवाद, नक्सलवाद, क्षेत्रवाद, जातिवाद की समस्याओं से ग्रस्त है जिसका दुष्परिणाम युद्ध, हिंसा और खून-खराबे के रूप में नजर आता है। यदि धर्मगुरु सभी धर्मो के मुख्य उदेश्य समाज को प्रेम, सौहार्द और एक दूसरे धर्मो की इज्जत करने का संदेश दे तो विश्व शांति संभव है।

शहर काजी मौलाना मोहम्मद अहमद काजमी ने इस पहल का स्वागत करते हुए समाज में संवाद के लिए और परस्पर एक दूसरे के धर्मो को समझने के लिए समय-समय पर सर्व धर्म सम्मेलन को बहुत बड़ी जरुरत बताया है।

श्री गुरु सिंह सभा देहरादून के मुख्य ग्रंथि भाई शमशेर सिंह ने कहा कि सिख धर्म हमेशा से ही सेवा और प्रेम का पाठ समाज को देता आया है और आपसी सामनजस्य के लिए वल्र्ड पीस मिशन की पहल सराहनीय है।
जैन धर्मगुरु आलोकमुनि जी महाराज ने अहिंसा पर जोर देते हुए अफवाहों से बचने का संदेश देते हुए जीवन में संयम को जरुरी बताया।

इसाई धर्मगुरु फादर सतीश ज्ञान ने सभी धर्मो को आपस में परस्पर संवाद को अहम् बताते हुए विश्व शांति के लिए सामाजिक सौहार्द को जरुरी बताया।

Key Words : Uttarakhand, Dehradun, Religious leaders, peace and brotherhood

LEAVE A REPLY