Home अपना दून दून में सचिवालय कूच कर रहे बेरोजगारों पर पुलिस ने फटकारी लाठियां

दून में सचिवालय कूच कर रहे बेरोजगारों पर पुलिस ने फटकारी लाठियां

707
0
SHARE

देहरादून। सचिवालय कूच के दौरान हुए पथराव के बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारी बेरोजगारों पर लाठियां फटकारी। पथराव के दौरान कुछ पुलिसकर्मी चोटिल भी हुए। भर्तियों में गड़बड़ी और नई सरकारी नौकरी को लेकर देहरादून में प्रदेशभर के बेरोजगार युवा सड़क पर उतर आए हैं। बेरोजगार संघ के बैनरतले बेरोजगारों ने परेड ग्राउंड से सचिवालय की ओर कूच किया। कूच के दौरान आक्रोश रैली में राज्य के विभिन्न जिलों से बेरोजगार युवा शामिल हुए।

सोमवार को सचिवालय कूच के लिए बेरोजगार प्रदर्शनकारियों की महारैली के लिए कई दिनों से युवा सक्रिय थे। युवाओं की भारी भीड़ से पुलिस-प्रशासन के अफसरों में हड़कंप मच गया। पुलिस ने सचिवालय के समीप बैरेकेंटिंग लगाकर रोकने का प्रयास किया। जिसे लेकर प्रदर्शनकारियों और पुलिस में तीखी झड़प हुई। युवाओं के आक्रामक रूख अपनाते हुए पुलिस पर पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। जिसके बाद पुलिस को उन पर लाठियां भांजकर उन्हें खदेड़ना पड़ा।

बेरोजगार संघ के बैनर तले प्रदेशभर से आए बेरोजगारों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। बेरोजगार युवाओं की रैली के कारण शहर की यातायात व्यवस्था चरमरा गई है। परेड ग्राउंड धरना स्थल से लेकर अभिषेक टावर तक वाहन जाम में फंस गए हैं। पुलिस ने अभिषेक टॉवर पर युवाओं को रोका। जिससे युवा आक्रोशित हो गए और उन्होंने आसपास के कोचिंग सेंटर बंद कराकर छात्रों को आंदोलन में शामिल कर लिया।

बेरोजगार संघ से जुड़े युवाओं का कहना है कि रोजगार के मुद्दे पर सरकार का रवैया साफ नहीं है, जो भर्तियां हो रही हैं, उनमें तमाम घपले सामने आ रहे हैं। संघ ने कहा कि बेरोजगारी को दूर करने, आउट सोर्सिंग के जरिए भर्ती बंद करने और विभिन्न विभागों में नई भर्ती प्रक्रिया शुरू करने की प्रक्रिया में पारदर्शिता समेत तमाम मांगों को लेकर यह आंदोलन किया जा रहा है। बरोजगारां का कहना था कि राज्य के कई विभागों में दर्जनों पद लंबे अर्से से खाली पड़े हैं। लेकिन पदों को भरने के लिए कोई विज्ञप्ति जारी नहीं की जा रही।

प्रदर्शनकारियों में संघ के अध्यक्ष बॉबी पंवार, संरक्षक सुनील रावत, उपाध्यक्ष पीसी पंत, यशपाल बिष्ट, धनीराम जगूड़ी, गिरेश रावत सहित सैकड़ों की संख्या मे बेरोजगार शामिल थे।

Key Words : Uttrakhand, Dehradun,

LEAVE A REPLY