Home उत्तराखंड धनोल्टी क्षेत्र में बारिश के खौफ से सहमे लोग

धनोल्टी क्षेत्र में बारिश के खौफ से सहमे लोग

1130
0
SHARE

नैनबाग, टिहरी। मौसम विभाग के 48 घंटे बारिश की चेतावनी सही साबित हुई जिसके चलते धनोल्टी विधानसभा के कई क्षेत्रो में बारिश का कहर जारी है। कई सड़के बंद हैं। भूस्खलन, नदियों के बढ़ते जल स्तर से लोग सहमे हुए हैं।

सोमवार शाम से क्षेत्र में हो रही भारी बारिश के कारण विकासनगर नैनबाग बड़कोट राष्ट्रीय राज मार्ग 507 कई जगह भूस्खलन होने से मार्ग बंद रहा। नैनबाग सुमनक्यारी के बीच खाद्यान भंडार के समीप ओर सुमनक्यारी खरसोन क्यारी के बीच भूस्खलन होने से बंद मार्ग को विभाग द्वारा रात में ही खोल दिया गया था लेकिन अगलाड़ बैंड़ व सिलेसू पुल के समीप अधिक भूस्खलन होने से रात भर मुख्य मार्ग बंद रहा कई घंटो की मशक्कत के बाद सुबह तकरीबन 9 बजे 12 घंटे बाद मार्ग आवाजाही के लिए सुचारू किया गया। मार्ग खुलने के बाद लोगां ने राहत की सांस ली। मार्ग बंद होने के कारण यात्रियों को अपने वाहन में ही रात गुजारनी पड़ी। भूस्खलन के चलते कुछ समय के लिए नैनबाग घोड़ाखुरी ऐंदी मोटर मार्ग भी मसोन खड़ के पास बंद रहा। वहीं नैनबाग मसूरी राष्ट्रीय राज मार्ग 707 कैम्पटी में वन विभाग अतिथि गृह के समीप बोल्डर आने से मार्ग अवरुद्ध हो गया।

कैम्पटी बाई पास मोटर मार्ग ख्यार्सी व तलोगी के समीप भूस्खलन होने से एकल मार्ग अवरुद्ध हैं। जिससे कैम्पटी घुमने आये पर्यटक रास्ते में ही फंसे हैं। सकलाना क्षेत्र के कालाबन तेगना मोटर मार्ग बंद हैं सकलाना क्षेत्र में बिजली गुल है और कोई भी नेटवर्क काम नहीं कर रहा है जिससे मंझगांव और कालाबन तेगना के ग्रामीणों की मुश्किलें बढ़ गई है।

अगलाड़, पालीगाड़ व बेलगरा नदियां उफान पर :
वहीँ दूसरी और देर रात से लगातार हो रही बारिश के कारण जौनपुर ब्लाक की अगलाड, पालीगाड व बेलगरा नदी उफान पर होने से तीनों नदियों के संगम स्थल थत्यूड़ मे लोगों ने डर के साए में रात बिताई लोगों ने घरो से बाहर रहकर जागकर रात काटी। 2013 की आपदा में भी तीनों नदियों के उफान में आने से इसके संगम स्थान थत्यूड़ में भारी तबाही हुई थी सोमवार रात की बारिश ने लोगां को 2013 की आपदा की यादें ताजा कर दी।

Key Words : Uttarakhand, Tehri, Dhaunolti, Rain

LEAVE A REPLY