Home संस्कृति एवं संभ्यता हर पड़ाव में बदलाव की मिसाल बना पारसी समुदाय

हर पड़ाव में बदलाव की मिसाल बना पारसी समुदाय

1024
0
SHARE
पारसी बुजुर्ग बताते है…हमारे धर्म में हमें सिखाया जाता है कि खूब पैसा कमाओ। बड़े-बुजुर्ग अपने छोटों को आशीर्वाद देते हुए कहते हैं कि खूब मेहनत करो और आर्थिक रूप से समृद्ध बनो। समाज के काम आओ।
रोहित श्रीवास्तव :

पारसी समुदाए जनसंख्या के लिहाज से देश का सबसे छोटा समुदाय है, लेकिन सबसे संपन्न और काबिल। देश के विकास के हर पायदान पर पारसी समुदाय का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। जिस क्षेत्र में भी इस समुदाय के लोग उतरे उन्होंने मुकाम हासिल किया। इन्होंने कभी ऐसा नहीं कहा कि हमें आरक्षण दो या हमें सरकार की मदद चाहिए। अपने जज्बे और मेहनत से इन्होंने देश का सिर हमेशा ऊँचा रखा। देश के हर पड़ाव में बदलाव की मिसाल है पारसी समुदाय।

कानून के क्षेत्र में तो पारसी समुदाय का योगदान अतुलनीय है, चाहे सर दिनशॉफर्दूनजी मुल्ला या काँगा की बात की जाए या ननीपालखीवाला की, सोली सोराबजी हों या फली एस नरीमन जैसे बेहतरीन वकील सब मुम्बई बार एसोसिएशन के कोहिनूर रहे हैं। इनके बिना संविधान पढ़ने की आप सोची भी नहीं जा सकती। आप कानून की पढ़ाई करें तो निश्चय ही आप इन्हें नजरअंदाज नहीं कर सकते।

दादाभाई नैरोजी जैसे स्वतँत्रता सेनानी, विज्ञान के क्षेत्र में होमी जहाँगीर भाभा जैसे बेहतरीन मागदर्शक। सेना में मानेक शॉ जैसा वीर नेतृत्व या होमी व्यारावाला भारत की प्रथम महिला फोटोग्राफर, व्यापार में टाटा समूह और बैंक पारसियों की विरासत का देश को अनमोल तोहफा है। फिरोज गाँधी जैसा राजनीतिज्ञ जिन्होंने अपने ससुर नेहरू सरकार की भ्रष्टाचार के मुद्दे पर संसद और सड़क पर जमकर ऐसी तैसी की।

पारसी बुजुर्ग बताते है…हमारे धर्म में हमें सिखाया जाता है कि खूब पैसा कमाओ। बड़े-बुजुर्ग अपने छोटों को आशीर्वाद देते हुए कहते हैं कि खूब मेहनत करो और आर्थिक रूप से समृद्ध बनो। समाज के काम आओ। यही पारसी समुदाय की समृद्धि का कारण है। वह यह कहानी भी बयां करते हैं कि पुराने समय में जब पारसी समुदाय का प्रतिनिधिमंडल भारत के तट पर यहाँ रहने के लिए पहुँचा तो यहाँ के राजा ने दूध का भरा कटोरा आगे करते हुए कहा कि हमारे राज्य की स्थिति इस दूध के कटोरे की तरह है। जिस पर पारसी प्रतिनिधि ने अपने झोले से चीनी निकाली व दूध में मिला दी और कहा भारतीय समाज में घुल-मिल कर रहेंगे और राज्य की समृद्धि में योगदान देंगे। वह कहते हैं कि हमारे पूर्वजों ने जो वादा यहाँ के राजा से किया था हम उस पर कायम हैं, उसे निभा रहे हैं।

LEAVE A REPLY