Home उत्तराखंड एक बार फिर बाबा ने मुझे बुलाया : मोदी

एक बार फिर बाबा ने मुझे बुलाया : मोदी

716
0
SHARE
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने केदारपुरी में रखी विकास की आधारशिला : 

रुद्रप्रयाग। जय-जय केदार भोले बाबा के उद्घोषों के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने केदारनाथ में अपना सम्बोधन शुरू किया। इसके बाद उन्होंने लोक भाषा गढ़वाली में कहा कि देवभूमि उत्तराखंड के सभी भाई बहनों तै मेरु सादर नमस्कार। बाबा केदार कु आशीर्वाद सभी पर बन्यूं रह इनहि कामना छ मेरी। उन्होंने देश और दुनिया में फैले हुए सभी भाई बंधुओं को केदारनाथ की पवित्र धरती से शुभकामनाएं दी।

शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बाबा भोले के दरबार केदारनाथ पहुंचे, जहां उन्होंने पहली बार जनसमुदाय को संबोधित किया। इससे पहले पीएम मोदी तीन मई को बाबा के कपाट खुलने के अवसर पर केदारपुरी पहुंचे थे। उस दौरान उन्होंने जनता को संबोधन नहीं किया, मगर इस बार उन्होंने आधे घंटे तक जनता को संबोधित किया। उन्होंने उपस्थित श्रद्धालुओं को दीपावली की शुभकामनाएं दी और कहा कि एक बार फिर बाबा ने मुझे बुलाया है। पीएम ने कहा कि हमारे देश की संस्कृति में जन सेवा ही प्रभु सेवा है, इसलिए आज मेरे लिए सवा सौ करोड़ देश वासियों की सेवा बाबा की सेवा है। बदरी विशाल की सेवा है। यही मंदाकिनी की सेवा है और यही गंगा मां की सेवा है। कहा कि धाम से संकल्प लेकर भारत को विकास की नयी ऊँचाईयों पर पहुंचाया जाएगा और केदारनाथ में पर्यावरण के अनुकूल पुनर्निर्माण विकास कार्य किए जाएंगे। उन्होंने पुनर्निर्माण कार्य के लिये अन्य राज्य सरकार, उद्योग, व्यापार जगत को हाथ बंटाने के लिए निमंत्रण दिया। कहा कि इस वर्ष साढ़े चार लाख से अधिक लोग केदारपुरी पहुंचे हैं और अगले वर्ष निश्चित है की दस लाख यात्री धाम में आयेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देवभूमि उत्तराखण्ड ने वीरों को जन्म दिया है, इसलिए इसे वीरों की भूमि से भी जाना जाता है। हिमालय के प्रत्येक भूभाग में अलग-अलग चेतना का अनुभव होता है। उत्तराखंड की धरती में दिव्य चेतना की अनुभूति होती है। हिमालय की प्रत्येक चेतना की स्वयं महसूस किया है। उत्तराखंड में वन सम्पदा, जड़ी बूटी, जैविक कृषि, साहसिक पर्यटन की अपार सम्भावनाएँ है। उन्होंने 2022 तक सिक्किम की भांति उत्तराखंड को जैविक राज्य के रूप में तब्दील करने की बात भी कही।

इस मौके पर राज्यपाल केके पॉल, रॉवल भीमाशंकर लिंग, केदारनाथ पुजारी बागेश लिंग, मुंख्यमुत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, काबीना मंत्री प्रकाश पंत, राज्य मंत्री धन सिंह रावत, केदारनाथ विधायक मनोज रावत, बद्री-केदार मंदिर समिति के बीडी सिंह, पुजारी प्रवीन तिवारी, श्रीनिवास पोस्ती, विनोद शुक्ल, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष चंडी प्रसाद भट्ट, भाजपा जिलाध्यक्ष विजय कप्रवाण, महामंत्री अजय सेमवाल, नगर पंचायत अध्यक्ष केदारनाथ वेद प्रकाश सेमवाल, वाचस्पति सेमवाल, शकुन्तला जगवाण आदि मौजूद थे।

सात सौ करोड़ की पांच योजनाओं का किया शिलान्यास : 

रुद्रप्रयाग। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी केदारपुरी को विकसित करने के लिए पांच योजनाओं का शिलान्यास किया, जिनमें केदारनाथ धाम में मंदाकिनी नदी पर बाढ़ सुरक्षा एवं घाट निर्माण, सरस्वती नदी पर बाढ़ सुरक्षा एवं घाट निर्माण कार्य, तीर्थ पुरोहितों के आवासीय भवनों का निर्माण, आदि गुरू शंकराचार्य कुटीर एवं संग्रहालय का निर्माण, मंदिर परिसर पहुंचने के मुख्य मार्ग के चौड़ीकरण एवं सौन्दर्यीकरण का कार्य शामिल हैं। इन सभी योजनाओं की लागत करीब सात सौ करोड़ है, जिनकी आधारशिला पीएम मोदी ने रखी।

Key words : Uttrakhand, Rudraprayag, Kedarnath, Fundraising, Five schemes, Seven Hundred Crore

LEAVE A REPLY