Home शिक्षा और रोजगार एनआईआईएफटी : नौकरी के अलावा स्वरोजगार के भी अवसर

एनआईआईएफटी : नौकरी के अलावा स्वरोजगार के भी अवसर

119
0
SHARE

डीबीएल संवाददाता/देहरादून। एनआईआईएफटी की स्थापना मोहाली में 1995 में पंजाब सरकार के द्वारा उद्योग एवं वाणिज्य मंत्रालय के तहत की गई। एनआईआईएफटी डिज़ाइन, प्रबन्धन एवं प्रोद्यौगिकी के क्षेत्र में शिक्षा प्रदान करता है, जहाँ देश भर से महत्वाकांक्षी विद्यार्थी आकर इसके शिक्षा कार्यक्रमों से लाभान्वित होते हैं। साल दर साल यह संस्थान अपने प्रोग्राम में नए पाठ्यक्रमों को शामिल कर रहा है और परिधान उद्योग के साथ इसके लगातार बेहतर संबंध स्थापित हो रहें हैं। फैशन के कारोबार में उद्योग जगत को प्रशिक्षित पेशेवर उपलब्ध कराने के लिए एनआईआईएफटी, मोहाली ने साल 2008 में लुधियाना केन्द्र की स्थापना की।

गुरूवार को एनआईआईएफटी के रजिस्ट्रार सरदार इंद्रजीत सिंह ने दून के एक होटल में आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान जानकारी देते हुए बताया कि एनआईआईएफटी से शिक्षित छात्र अपने करियर में नौकरी के अलावा स्वरोजगार भी स्थापित कर चुके हैं। उन्होंने बताया कि आउटलुक पत्रिका द्वारा किए गए एक सर्वेक्षण के अनुसार यह संस्थान आज देश में नवें स्थान पर है।

विनी महाजन, आईएएस, मुख्य सचिव उद्योग एवं वाणिज्य पंजाब सरकार, अध्यक्ष एनआईआईएफटी एवं मंजित सिंह ब्रार, आईएएस, आयुक्त उद्योग एवं वाणिज्य पंजाब सरकार एनआईआईएफटी के महानिदेशक द्वारा प्रशासित करने के साथ छात्रों के सुनहरे भविष्य के लिए अपना अमूल्य मार्गदर्शन दे रहे हैं।   

आॅनलाईन पंजीकरण शुरू :

एनआईआईएफटी के रजिस्ट्रार सरदार इंद्रजीत सिंह ने पत्रकारों को बताया कि विद्यार्थियों को भर्ती के लिए एक प्रवेश परीक्षा देनी होती है जिसका आयोजन दो जून, 2019 को किया जाएगा तथा जिसके आॅनलाईन पंजीकरण अप्रैल, 2019 से शुरू हो गये हैं एवं आवेदन जमा करने की अंतिम तारीख 23 मई, 2019 है। परिणामों की घोषणा 20 जून, 2019 में की जाएगी तथा 25-26 जून, 2019 को यूजी प्रोग्रामों की साक्षात्कार सिचुएशन परीक्षा ली जायेगी। पहली काउन्सलिंग से लेकर तीसरी काउन्सलिंग 26 व 28 जून को होगी एवं फीस भी 26 व 28 जून को ली जाएगी तथा विस्तृत विवरण वेबसाईट www.niiftindia.com पर उपलब्ध है। 
एनआईआईएफटी मोहाली परिसर में फैला है। अत्याधुनिक इन्फ्रास्ट्रक्चर से युक्त यह परिसर सभी सुविधाओं से लैस है जैसेः पुस्तकालय, संसाधन केन्द्र, आर्ट स्टुडियो, अत्याधुनिक प्रयोगशालाएं, सूचना प्रोद्यौगिकी विभाग, डिज़ाइन साॅफ्टवेयर। लुधियाना में उपरोक्त सभी सुविधाएं मौजूद हैं। 

संस्थान में मौजूद हैं ये पाठ्यक्रम:

10+2 के बाद फैशन डिज़ाइन में बी. एस. सी.10+2 के बाद टेक्सटाईल डिज़ाइन में बी. एस. सी.10+2 के  बाद फैशन डिज़ाइन (निट्स) में बी. एस. सी. + स्नातक के बाद परिधान विनिर्माण प्रोद्यौगिकी (गारमेन्ट मैनुफैक्चरिंग टेकनोलोजी) में एम. एस. सी.+ स्नातक के बाद फैशन विपणन एवं प्रबन्धन (फैशन मार्केटिंग एण्ड मैनेजमेन्ट) में एम. एस. सी 

प्लेसमेन्ट एनआईआईएफटी सभी क्षेत्रों जैसे फैशन डिज़ाइन, टेक्सटाईल डिज़ाइन, गारमेन्ट मैनुफैक्चरिंग टैकनोलोजी, फैशन मार्केटिंग मैनेजमेन्ट आदि से पास होने वाले विद्यार्थियों को लगभग 100 फीसदी प्लेसमेन्ट उपलब्ध कराता है। विद्यार्थियों को कई अग्रणी कम्पनियों जैसे वर्धमान, टाईनोर आॅर्थोटिक्स लिमिटेड, जिनी एण्ड जाॅनी, सत्यपाॅल, कैसकेड, आॅक्टेव, कैपसनस, स्पोर्टकिंग, ट्रिडेंट आदि में नौकरियां दी गई हैं। 
हमारे फैशन डिज़ाइन के विद्यार्थी ऐसी अंतः विषयी शिक्षा प्राप्त करते हैं जो उन्हें उद्योग जगत की भावी चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार करती है। दोनों संस्थानों एवं फैकल्टी के सहयोग से सभी विद्यार्थियों को अपने पेशे में कामयाबी हासिल करने का मौका मिलता है।

इससे पूर्व बल्लूपुर चौक स्थित पहल डिजाईन संस्थान में चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। चित्रकला प्रतियोगिता का उद्देश्य छात्रों को अपने मतदान के अधिकार के बारे में जागरूक करना था। छात्रों को बताया गया कि सभी को वोट देना चाहिए। चित्रकला प्रतियोगिता में लगभग 100 छात्रों ने भाग लिया। जिसमें कार्तिक महाजन प्रथम, श्रेया सिंह रोहेला द्वितीय व मेधा उपाध्याय तृतीय स्थान पर रहे। सांत्वना पुरस्कार के रूप में प्रेरणा बिष्ट, स्मृति राणा व अर्सिता नेगी दिये गये।

इस अवसर पर पहल डिजाईन संस्थान देहरादून के निदेशक विजय ठाकुर, एनआईआईएफटी के सतनाम सिंह व पहल डिजाईन संस्थान के छात्र-छात्रायें मौजूद थे।    

LEAVE A REPLY