Home उत्तराखंड मद्महेश्वर धाम जाते हुए रास्ते में फंसे ट्रैकिंग दल के सदस्य

मद्महेश्वर धाम जाते हुए रास्ते में फंसे ट्रैकिंग दल के सदस्य

569
0
SHARE
मौसम खराब होने चलते वायु सेना के चाॅपर को पड़ा लौटना :

रुद्रप्रयाग। पनपतिया में फंसे टैकर्स को रेस्क्यू करने के लिये प्रशासन ने वायुसेना की मदद मांगी है। वायु सेना का चाॅपर भी मदद के लिये पहुंच गया है, लेकिन मौसम खराब होने के कारण फंसे हुये ट्रैकरों को रेस्क्यू नहीं किया जा सका। बुधवार सुबह रेस्क्यू करने के लिये हेलीकाप्टर से भेजी गई दस सदस्यी टीम के सांय तक मौके पर पहुंचने की सूचना दी। उन्होंने बताया कि नौ लोग अभी भी फंसे हुये हैं। जबकि पांच लोग सुरक्षित मदमहेश्वर धाम पहुंच गये थे। फंसे हुये ट्रैकरों में से एक की हालात नाजुक बताई जा रही हैं।

मिली जानकारी के अनुसार इंडियन आयल कंपनी में कार्यरत कुछ अधिकारी-कर्मचारियों का एक ट्रेकिंग दल बद्रीनाथ मदमहेश्वर के रास्ते मद्महेश्वर धाम आ रहा था। इस दल में पांच पोटर्स भी शामिल हैं। 14 सदस्यीय दल में से पांच लोग तो सकुशल मद्महेश्वर धाम पहुंच गये, लेकिन नौ सदस्य रास्ते में फंस गये। बताया जा रहा है कि थकान के कारण इन नौ लोगों ने आगे जाने की हिम्मत नहीं उठाई। जिस स्थान पर यह फंसे हुये हैं, वह काफी ऊंचाई पर स्थित है और वहां बर्फबारी भी हो रही है। सकुशल पहुंचे पांच सदस्यों ने हादसे की जानकारी फोन से दी।

सूचना मिलने पर देहरादून जिला प्रशासन ने मंगलवार सांय को एसडीआरएफ, आपदा प्रबंधन और पुलिस की एक टीम को मौके लिये रवाना कर दिया था। साथ ही दस सदस्यीय एक टीम हेलीकाप्टर से रवाना की गई। मौसम खराब होने और हेलीकाप्टर के लैंडिंग करने के लिये जगह न होने के कारण यह टीम बूढ़ा मद्महेश्वर तक ही हेलीकाप्टर से पहुंच पाई। दोपहर तक पैदल ही जाने को मजबूर हुई बचाव टीम आधे रास्ते तक पहुंच गई थी। टीम अपने साथ गर्म कपड़े, खाने का सामान, दवाईयों के साथ ही आवश्यक सामग्री ले गई है।

वहीं प्रशासन ने भारतीय वायुसेना से भी मदद मांगी है। जिसके बाद वायुसेना का एक चापर फंसे हुये टैकर्स को निकालने के लिये पहुंच गया था। दोपहर के समय वायु सेना के चाॅपर ने मद्महेश्वर वैली में रेकी की, लेकिन मौसम खराब होने के कारण वायु सेना के चाॅपर ने जोशीमठ में लैंडिंग कर दी। अब गुरूवार को मौसम साफ होने के बाद वायु सेना का चाॅपर रेस्क्यू करने के लिये पहुंचेगा।

Key Words : Uttarakhand, Rudraprayag, Madhameshwar Dham, Tracking team, Trapped

 

LEAVE A REPLY