Home उत्तराखंड हरिद्वार में पंचायत महाकुम्भ का सफल आयोजन – पंचायतों को स्वच्छ और...

हरिद्वार में पंचायत महाकुम्भ का सफल आयोजन – पंचायतों को स्वच्छ और सशक्त बनाना सरकार का प्राथमिक लक्ष्य : अरविन्द पाण्डे

966
0
SHARE

हरिद्वार। सूबे के पंचायती राज विभाग के तत्वावधान में प्रदेश भर के गांवों को साफ-सफाई में अव्वल बनाने और पंचायतों को सशक्त बनाने को लेकर आयोजित त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों के राज्य स्तरीय पंचायत महाकुम्भ का आयोजन सफलतापूर्वक सम्पन्न हो गया। इस अवसर पर प्रदेश के पंचायती राज मंत्री अरविन्द पाण्डे ने गंगा के तट पर पंचायत प्रतिनिधियों को गांवों को स्वच्छ रखने का संकल्प दिलवाया। कार्यक्रम के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री एवं हरिद्वार के सांसद रमेश पोखरियाल निशंक ने स्वच्छ भारत अभियान की सफलता को लेकर प्रदेश के पंचायती राज विभाग की गांवों को स्वच्छ बनाने की मुहिम और ठोस अवशिष्ट प्रबन्धन को लेकर बनाई गई रणनीति को सराहा और सफलता की शुभकामनाएं दीं।

बुधवार को हरिद्वार में गंगा तट पर आयोजित पंचायत महाकुम्भ में प्रदेश भर से पहुंचे पंचायत प्रतिनिधियों ने पंचायती राज विभाग द्वारा गांवों को साफ-सुथरा रखने को लेकर बनाई गई रणनीति के तहत कार्य करने का संकल्प लिया। इस मौके पर प्रदेश के पंचायती राज्य मंत्री अरविन्द पाण्डे ने कहा कि राज्य के गांवों को स्वच्छ और आदर्श बनाना प्रदेश सरकार के प्राथमिक लक्ष्य में शामिल है। पंचायतों की मजबूती की दिशा में सुझाव आमंत्रित कर उन पर अमल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गांवों को स्वच्छ बनाने और विभाग द्वारा ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन को बनाई गई रणनीति की सफलता के लिए सभी का सहयोग जरूरी है।

पूर्व मुख्यमंत्री एवं हरिद्वार के सांसद रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि पंचायत महाकुम्भ का आयोजन अपने आप में एक आदर्श पहल है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विकास में पंचायतों का अहम योगदान है। प्रदेश की संस्कृति और सभ्यता की पहचान हमारे गांव से ही होती है। उन्होंने प्रदेश के सभी पंचायत प्रतिनिनियों को गांवों को स्वच्छ और आदर्श बनाने के की मुहिम के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत सरकार की पहल को सराहनीय बताया।

आयोजन के दौरान हरिद्वार ग्रामीण क्षेत्र के विधायक स्वामी यतीश्वरानन्द, भगवानपुर विधायक ममता राकेश, रुड़की विधायक प्रदीप बत्रा, लक्सर विधायक संजय गुप्ता आदि ने भी अपने संबोधन में पंचायत प्रतिनिधियों को अपनी शुभकामनाएं दीं और अपेक्षा जताई कि प्रदेश के विकास और आदर्श राज्य बनाने की दिशा में वे अपना भरपूर सहयोग प्रदान करेंगे।

पंचायती राज विभाग निदेशक एससी सेमवाल ने आयोजन के उद्देश्यों और लक्ष्यों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा पंचायतों की ओर से मिले सुझावों पर भी सकारात्मक दिशा में अमल किया जाएगा। संयुक्त निदेशक डीपी देवराड़ी एवं विभाग के वरिष्ठ नोडल अफसर प्रकाश रतूड़ी ने पंचायत प्रतिनिधियों को ठोस अपशिष्ट प्रबन्ध के बारे में विस्तृत से जानकारी दी।

आयोजन में प्रदेश के विभिन्न जनपदों की ग्राम पंचयातों से 6500 ग्राम प्रधान, क्षेत्र प्रमुख एवं पंचायत से जुड़े प्रतिनिधि शामिल हुए।

Key Words : Uttarakhand, Haridwar, Panchayat Maha Kumbh,  Primary Goal, State Government

LEAVE A REPLY