Home अपना दून महाराष्ट्र: राज्यपाल से मिले आदित्य ठाकरे, सरकार गठन पर सस्पेंस बरकरार

महाराष्ट्र: राज्यपाल से मिले आदित्य ठाकरे, सरकार गठन पर सस्पेंस बरकरार

434
0
SHARE

महाराष्ट्र में शिवसेना सरकार पर पेच फंसा हुआ है। एनसीपी ने कहा है कि वह कांग्रेस के फैसले के बाद कोई निर्णय लेंगे।भाजपा ने रविवार को राज्यपाल से मिलकर कहा कि वह राज्य में अकेले सरकार नहीं बना सकती। इसके बाद राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने दूसरी सबसे बड़ी पार्टी शिवसेना को सरकार बनाने का न्योता दिया है। अब सबकी नजर एनसीपी व कांग्रेस पर टिकी हुई है। कांग्रेस ने सीपीडब्ल्यूसी की बैठक बुलाई है। वहीं एनसीपी ने कोर कमेटी की बैठक बुलाई है। इसके बाद शिवसेना नेता एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मुलाकात कर सकते हैं। इस मुलाकात में शिवसेना सरकार गठन के लिए समर्थन मांग सकती है। वहीं, कांग्रेस महासचिव अहमद पटेल सोमवार को विधायकों से मिलने के लिए जयपुर जा सकते हैं। हालांकि एनसीपी और कांग्रेस दोनों के नेताओं के रुख से साफ है कि शिवसेना को समर्थन पर फैसला दोनों दलों की सहमति के बाद ही होगा।

– आदित्य ठाकरे और महाराष्ट्र के राज्यपाल से मुलाकात हो चुकी है। लेकिन दावा पेश करने को लेकर अभी भी सस्पेंस बरकरार है।

– आदित्य ठाकरे राज्यपाल से मिलने के लिए राजभवन पहुंच चुके हैं।  जहां संभावना है कि वो महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन का दावा पेश कर सकते हैं। थोड़ी देर में इसका ऐलान हो सकता है।

– कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ पार्टी के नेताओं के साथ बैठक खत्म हो गई है। बैठक खत्म होने के बाद अब उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही कोई बड़ा ऐलान हो सकता है।

–  पार्टी नेताओं के साथ बैठक में सोनिया गांधी ने महाराष्ट्र में कुछ विधायकों से बात की है।

– कांग्रेस की बैठक के बीच शिसवेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से फोन पर बात की है।

– कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया के साथ महाराष्ट्र कांग्रेस नेताओं के साथ बैठक जारी है जबकि दूसरी ओर मुंबई में एनसीपी नेताओं की दूसरी बैठक खत्म हो गई है।

– इधऱ कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की महाराष्ट्र कांग्रेस नेताओं के साथ बैठक शुरू हो गई है। इस बैठक में सुशील कुमार शिंदे, अहमद पटेल समेत कई बड़े नेता शामिल हैं।

–  मुंबई में एनसीपी कोर कमेटी की दूसरी बैठक जारी, महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर चर्चा।

– कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने के लिए एके एंटनी और अहमद पटेल  10 जनपथ आवास पहुंचे। महाराष्ट्र में राजनीतिक स्थिति पर चर्चा के लिए पार्टी के महाराष्ट्र के नेताओं को दिल्ली बुलाया गया है।

– महाराष्ट्र में जारी सियासी उठापटक के बीच शिवसेना सांसद संजय राउत की तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

– एनसपी प्रमुख शरद पवार से मिलने के लिए एनसीपी नेता उद्धव ठाकरे पहुंचे। यह मुलाकात बांद्रा के ताज लैंड एंड होटल में हुई जसे अब खत्म हो गई है। इस बैठक में वर्ली से शिवसेना विधायक आदित्य ठाकरे भी मौजूद थे। इस बैठक में महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर बातचीत होगी।

– एनसीपी नवाब मलिक ने कहा कि एनसपी और कांग्रेस की बैठक हुई है। खड़गे साहब ने कहा है कि वह चार बजे एक बार फिर बैठेंगे। जब तक कांग्रेस निर्णय नहीं लेगी तब तक हम कोई फैसला नहीं लेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपना क्या निर्णय लेती है उसके बाद हम अपना फैसला लेंगे।

– कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के घर वर्किंग कमेटी की बैठक खत्म हो गई है। मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि महाराष्ट्र की राजनीतिक स्थिति पर सीपीडब्ल्यूसी की बैठक में चर्चा हुई है। आगे के चर्चा के लिए महाराष्ट्र के सभी वरिष्ठ नेताओं को बुलाकर फैसला लेंगे। उन्होंने कहा कि चार बजे हम एक बार फिर बैठेंगे और चर्चा करेंगे।

– शिवसेना नेता संजय राउत पार्टी चीफ उद्धव ठाकरे से मिलने के लिए मुंबई में उनके घर पहुंचे

– संजय राउत ने कहा कि हमारे केंद्रीय मंत्री आज अपने पद से इस्तीफा दे देंगे। उन्होंने कहा कि अरविंद सांवत ने उद्धव ठाकरे के आदेश पर मंत्री पद से इस्तीफ दिया है।

– शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि आज जो हो रहा है उसकी सबसे ज्यादा जवाबदेही बीजेपी की है। शिवसेना को दोष देना बेकार है। उन्होंने कहा कि राज्यपाल से बीजेपी ने कहा कि हम सरकार नहीं बना सकते हैं। शिवसेना हमारे साथ नहीं आ रही है। हम विपक्ष में बैठेंगे। ये बीजेपी का अहंकार है। उन्होंने कहा कि बीजेपी विपक्ष में बैठने को तैयार है लेकिन 50:50 का फॉर्मुला देने को तैयार नहीं है। शिवसेना को मुख्यमंत्री पद नहीं देंगे चाहे विपक्ष में बैठना पड़े।

– महाराष्ट्र: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार ने पार्टी की कोर ग्रुप मीटिंग बुलाई है। यह मीटिंग पवार की अध्यक्षता में होगी जिसमें राज्य में मौजूदा राजनीतिक स्थिति को लेकर चर्चा होगी। प्रफुल्ल पटेल, सुप्रिया सुले, अजीत पवार, जयंत पाटिल और पार्टी के अन्य नेता मौजूद रहेंगे।

– कांग्रेस ने महाराष्ट्र में राजनीतिक स्थिति को लेकर दिल्ली में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर आज कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक बुलाई है।

– महाराष्ट्र: मुंबई में देवेंद्र फणनवीस के घर पर आज होगी बीजेपी कोर कमेटी की बैठक

– शिवसेना नेता संजय राउत ने ट्वीट करके कहा कि रास्ते की परवाह करूँगा तो मंजिल बुरा मान जाएगी………!

– केंद्रीय भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्री और शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने ट्वीट करके कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले दोनों में सीट शेयरिंग को लेकर एक फॉर्मुला तय हुआ था, दोनों की उस पर सहमति हुई थी। उस फॉर्मुले को नकार कर शिवसेना को झूठा ठहराकर महाराष्ट्र के स्वाभिमान पर कलंक लगाने की कोशिश की गई है। शिवसेना का पक्ष सच्चाई है। इतने झूठे माहौल में दिल्ली में क्यों रहें? इसीलिए मैं केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा दे रहा हूं। इस संबंध में आज सुबह 11 बजे मैं दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करने जा रहा हूं।

– केंद्रीय भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्री और शिवसेना सांसद अरविंद सावंत: मैं अपने मंत्री पद से इस्तीफा दे रहा हूं। – ANI

– महाराष्ट्र सरकार के गठन पर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि आज सुबह 10 बजे एक बैठक है। हम हाईकमान से निर्देश के अनुसार आगे बढ़ेंगे। लेकिन लोगों का निर्णय और असली निर्णय यह है कि हमें विपक्ष में बैठना चाहिए, यही वर्तमान स्थिति है।

– राज्यपाल ने सबसे बड़ी पार्टी होने के कारण भाजपा को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया था। रविवार को भाजपा की कोर ग्रुप की बैठक के बाद राज्य ईकाई के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि हमने राज्य में सरकार न बनाने का फैसला लिया है। राज्यपाल को भी इसकी जानकारी दे दी गई है। उन्होंने कहा कि अगर शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के सहयोग से सरकार बनाने की स्थिति में है तो हम उन्हें अपनी शुभकामनाएं देते हैं। पाटिल ने कहा, भाजपा-शिवसेना ने मिलकर चुनाव लड़ा था, जिसे जनादेश मिला लेकिन शिवसेना जनमत का अनादर कर रही है।

– भाजपा के इनकार के बाद राज्यपाल ने शिवसेना को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया है। शिवसेना राज्य में भाजपा के बाद दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है। राजभवन के अधिकारी ने बताया, शिवसेना को सोमवार (11 नवंबर) शाम साढ़े सात बजे तक सरकार बनाने पर अपने रुख की जानकारी देनी होगी।

– 288 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा को 105, शिवसेना को 56 सीटों पर जीत मिली है। विपक्षी कांग्रेस को 44 जबकि एनसीपी को 54 सीटों पर जीत मिली है। राज्य में सरकार बनाने के लिए 145 विधायकों के समर्थन की जरूरत है।

LEAVE A REPLY