Home संस्कृति एवं संभ्यता मॉ नंदा देवी राजराजेश्वरी लोकजात यात्रा का आयोजन 31 अगस्त से

मॉ नंदा देवी राजराजेश्वरी लोकजात यात्रा का आयोजन 31 अगस्त से

349
0
SHARE

घनश्याम मैंदोली/चमोली। देवभूमि उत्तराखंड की धार्मिक संस्कृति की प्रतीक मॉ नंदा देवी राजराजेश्वरी लोकजात यात्रा का आयोजन इस बार 31 अगस्त से 23 सितबंर किया जाएगा। पुरोहितों ने पूजा-अर्चना के बाद यात्रा का कार्यक्रम तय किया है। नंदा मेले का आयोजन 31 को शुरू होकर 2 सितंबर को मेले का समापन होगा।

नंदा देवी राजराजेश्वरी लोकजात यात्रा समिति एवं नंदा धाम कुरूड़ के नरेश गौड़ से मिली जानकारी के अनुसार लोकजात यात्रा 02 सितंबर को कुरूड़ से चरबंग, 03 सितंबर को चरबंग से उस्तोली, 04 सितंबर को उस्तोली से भेंटी, 05 सितंबर को भेंटी से कोठा, 06 सितंबर को कोठा से गोपटरा, 07 सितंबर को गोपटरा से गरूड़, 08 सितंबर को गरूड़ से डुंग्री, 09 सितंबर को डुंग्री से सूना, 10 सितंबर को सूना से चेपड़ो, 11 सितंबर को चेपड़ो से धरा, 12 सितंबर को धरा से फल्त्या गांव, 13 सितंबर को फल्त्या गांव से मुन्दोली, 14 सितंबर को मुन्दोली से वाण, 15 सितंबर को वाण से गेरोली पातल, 16 सितंबर को गेरोली से वेदनी में देवी की पूजा-अर्चना के बाद वेदनी मेले का समापन होगा। यात्रा का रात्रि विश्राम वांक में होगा। 17 सितंबर को वांक से ल्वाणी, 18 सितंबर को ल्वाणी से उलंग्रा, 19 सितंबर को उलंग्रा से बेराधार, 20 सितंबर को बेराधार से गोठिन्डा, 21 सितंबर को गोठिन्डा से कुराड़, 22 सितंबर को कुराड़ से डांगतोली, 23 सितंबर को डांगतोली से सिद्धपीठ देवराड़ा में देवी की डोली 6 महीने के लिए स्थापित होगी। उत्तरायन में देवी अपने मायके नंदा धाम कुरूड़ में पहुंच जाएगी।

LEAVE A REPLY