Home उत्तराखंड शहीद लांसनायक प्रदीप सिंह रावत को अंतिम विदाई देने उमड़े लोग

शहीद लांसनायक प्रदीप सिंह रावत को अंतिम विदाई देने उमड़े लोग

748
0
SHARE

ऋषिकेश। जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में शहीद हुए ऋषिकेश निवासी प्रदीप रावत को मुनिकीरेती पूर्णानंद घाट पर सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। शहीद को उनके चचेरे भाई कुलदीप सिंह रावत ने मुखाग्नि दी। 123 लाइट रेजीमेंट के अफसरों व जवानों ने शहीद को शस्त्र सलामी दी और पुष्पचक्र अर्पित किए।

जम्मू-कश्मीर के उड़ी सेक्टर में शहीद हुए जांबाज लांसनायक प्रदीप सिंह रावत की अंतिम यात्रा में जन सैलाब उमड़ पड़ा। पूर्णानन्द घाट पर शहीद प्रदीप रावत का सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। मंगलवार को सुबह 9.30 बजे शहीद के निवास से निकली अंतिम यात्रा में भारत माता की जय, प्रदीप तुम अमर रहो के नारे लगते रहे। अंतिम यात्रा पूरे सैन्य सम्मान के साथ गंगानगर से मुनिकीरेती स्थित मशान घाट तक निकाली गयी। यहां पूर्णानंद घाट पर शहीद का अंति संस्कार किया गया। शहर में जगह-जगह शहीद के अंतिम दर्शन के लिए लोगों की भीड़ लगी रही।

इस दौरान हरिद्वार सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल सहित बड़ी संख्या में शहर के आमजन मौजूद रहे।

शहीद का पार्थिव शरीर सोमवार शाम सैन्य सम्मान के साथ उनके घर लाया गया। तिरंगे में लिपटे शहीद बेटे का पार्थिव शरीर देखते ही मां डुग्गी देवी बिलख पड़ीं और बोलीं मेरा बेटा अमर हो गया। वहीं शहीद के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल था।

LEAVE A REPLY