Home उत्तराखंड महिला मंगल दलों का सड़क संरक्षण की पहल प्रेरणादायक : डीएम रुद्रप्रयाग

महिला मंगल दलों का सड़क संरक्षण की पहल प्रेरणादायक : डीएम रुद्रप्रयाग

1110
0
SHARE

रुद्रप्रयाग। पीएमजीएसवाई के सामुदायिक करार के तहत सड़क का रख-रखाव करने वाले महिला मंगल दल स्वारी-ग्वांस को एक लाख 55 हजार रूपये का चैक दिया गया। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने महिला मंगल दल अध्यक्ष मंजू देवी को चैक देते हुये कहा कि पीएमजीएसवाई की यह पहल अपने आप में एक ऐसी पहल है, जो महिलाओं को सशक्त बनाने में मील का पत्थर साबित होगी। उन्होंने कहा कि पहाड में महिला मंगल दलों ने आगे आकर सडकों के संरक्षण का जिम्मा लिया है, वह सभी के लिए प्रेरणादायक है। उन्होंने कहा कि महिला मंगल दल जिस सडक पर कार्य करती है, उसे पूरे मनायोग से करें, ताकि उसका एक अच्छा संदेश जाए।

कार्यशाला में महिला मंगल दल सदस्यों ने पीएमजीएसवाई की पहल की सराहना की। उन्होंने कहा कि इस पहल से एक तो उन्हें अपनी सडकों के रख-रखाव की बडी जिम्मेदारी मिली है, वहीं दूसरी ओर उन्होंने रोजगार का भी जरिया प्राप्त हुआ है। इसके साथ ही महिलाओं ने सिलाई-बुनाई के प्रशिक्षण की मांग भी की। महिला मंगल दल अध्यक्ष तूना मंजू देवी ने कहा कि गांव में महिलाएं दुग्ध उत्पादन करती हंै, लेकिन वाहन की सुविधा न होने से उन्हें दुध की ब्रिक्री की सुविधा नहीं मिल पाती है, इसके लिये वाहन की व्यवस्था की जाय। इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि जो भी समस्याएं होंगी, उन्हें दूर किया जाएगा। साथ ही सिलाई-बुनाई प्रशिक्षण जल्द से जल्द शुरू किया जाएगा।

पीएमजीएसवाई के अधीक्षण अभियंता वीएस रावत ने पीएमजीएसवाई के सामुदायिक अनुबंध कार्यक्रम पर विस्तृत प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि सडक संरचनाओं का ग्रामीण विकास में महत्व तथा इनके रखरखाव के प्रति आम जनमानस में जागरूकता एवं इनके प्रति अपनत्व की भावना सृजन करने के लिए यह कार्यक्रम चलाया जा रहा है। रुद्रप्रयाग, चमोली और पौडी जनपद में नौ सडके महिला मंगल दलों कों सौंपी गई, जिनका कार्य सराहनीय रहा है और इसके लिए प्रधानमंत्री ने भी महिला मंगलों दलों को प्रोत्साहित किया है।

कार्यशाला में पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियंता आरसी उनियाल, सहायक अभियंता विजयपाल सिंह नेगी, सहायक अभियंता मोहित उनियाल सहित महिला मंगल दलों के पदाधिकारी व सदस्य मौजूद थे।

Key Words : Uttarakhand, Rudraprayag, DM, Inspirational, Road Protection, women

LEAVE A REPLY