Home उत्तराखंड उत्तराखंड में सहकारिता निवेश पर हो रही ऐतिहासिक पहल : टम्टा

उत्तराखंड में सहकारिता निवेश पर हो रही ऐतिहासिक पहल : टम्टा

793
0
SHARE

देहरादून। दून के परेड ग्राउंड में आयोजित अन्तर्राज्जीय सहकारी निवेश सम्मेलन एवं प्रदर्शनी के सांस्कृतिक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में वस्त्र राज्य मंत्री, केंद्र सरकार अजय टम्टा एवं विशिष्ट अतिथि प्रेमचन्द अग्रवाल विधानसभा अध्यक्ष उत्तराखण्ड सरकार ने शिरकत की। कार्यक्रम की अध्यक्षता सुशील कुमार अध्यक्ष जिला सहकारी बैंक हरिद्वार ने की। इस मौके पर माल्वी ढौंढियाल के कथक नृत्य को सभी ने जमकर सराहा।

बुधवार को अन्तर्राज्जीय सहकारी निवेश सम्मेलन एवं प्रदर्शनी में सांस्कृति कार्यक्रम के दौरान वस्त्र राज्य मंत्री, केंद्र सरकार अजय टम्टा अजय टम्टा ने कहा कि उत्तराखंड में सहकारिता निवेश के क्षेत्र में जो भी कार्य हो रहे हैं वह ऐतिहासिक है। उन्होंने कहा कि जिस गुजरात व महाराष्ट्र सहकारिता की तर्ज पर हमारा प्रदेश भी सहकारिता के माध्यम से पूर्ण लक्ष्य हासिल करेगा। उन्होंने कहा कि हमें सामूहिक प्रयासों से भौगोलिक विषमता वाले हमारे प्रदेश को तीर्थाटन, सड़क़, स्वास्थ्य व शिक्षा के क्षेत्र में देश के नम्बर एक राज्य बनने का गौरव हासिल करना है। टम्टा ने कहा कि वे केन्द्र से प्रदेश के विकास कार्यों के लिए हर तरह की मदद मुहैया कराने के लिए हमेशा तत्पर हैं।

विधान सभा अध्यक्ष प्रेमचन्द अग्रवाल ने कहा कि सहकारिता प्रदर्शनी की आश्यकता बहुत पहले से थी। सहकारिता के माध्यम से हमारा प्रदेश कैसे आगे बढ़े इस पर ध्यान देना है। जिसमें कोई जाति, धर्म व बंधन नहीं यह एक मूलआधार है सहकारिता में फर्जी काम ने इसके लिए ऑनलाईन किया गया है।

कार्यक्रम में सहकारिता मंत्री धन सिंह रावत, राज्य सहकारी बैंक के चेयरमैन दान सिंह रावत, सचिव सहकारिता आर. मीनाक्षी सुन्दरम, निबंधक सहकारिता बीएम मिश्रा, घनश्याम नौटियाल निदेशक राज्य सहकारी बैंक हयात सिंह महरा, केपी अवस्थी, राजेश चौहान, सुमन कुमार, प्रेम कुमार आदि मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन डॉ अरविन्द जोशी ने किया।

महिला सशक्तिकरण पर संगोष्ठी आयोजित :
देहरादून। अन्तर्राज्जीय सहकारी निवेश सम्मेलन एवं प्रदर्शनी में बुधवार को तकनीकी सत्र में सहकारिता से महिला सशक्तिकरण पर संगोष्ठी का आयोजन भी किया गया। संगोष्ठी के प्रारंभ में अपर आयुक्त खाद्य सुचिता सिंह पांडे ने कहा कि मातृ दिवस केवल एक दिन नहीं बल्कि 365 दिन होता है।उन्होंने सरकारी योजनाओं की विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि कसार और कौसानी में महिलाओं के सशक्तिकरण पर योजनाएं तैयार की जा रही है। इस दौरान उन्होंने महिलाओं द्वारा सरकार की योजनाओं का किस तरह लाभ उठाया जाए इसकी भी जानकारी दी। इस दौरान महिला आयोग में महिला संरक्षण अधिकारी रमिन्द्री मद्रवाल मशरूम लेडी के नाम से विख्यात दिव्या रावत एवं उपनिबंधक सहकारी समितियां ईरा उप्रेती आदि ने भी अपने विचार रखे।

Key Words : Uttarakhand, Dehradun, Cooperation Investment, Ajay Tamta

LEAVE A REPLY