Home उत्तराखंड हेली कंपनियां विकास कार्यों में भी बनें सहभागीः डीएम रुद्रप्रयाग

हेली कंपनियां विकास कार्यों में भी बनें सहभागीः डीएम रुद्रप्रयाग

595
0
SHARE

रुद्रप्रयाग। जिला कार्यालय सभागार में जिलाधिकारी मंगेश घिल्ड़ियाल की अध्यक्षता में केदारनाथ यात्रा से जुड़ी हेली कम्पनियों के प्रतिनिधियों की बैठक ली। इस अवसर पर जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि सभी हेली कम्पनियां नियमों का पूरी सख्ती से पालन करें। इसके साथ ही हेली सेवाओं से प्रभावित हो रहे क्षेत्र के विकास में कम्पनियां अपना योगदान दें। कहा कि वर्षों से हेली कम्पनियां यहां रोजगार कर रही हैं, लेकिन अभी तक उन्होंने इस क्षेत्र के विकास में कोई बड़ा योगदान नहीं किया है।

बैठक में जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि केदारनाथ धाम के लिए उड़ने वाली हवाई सेवाओं से कई गांव प्रभावित हो रहे हैं। आपदाग्रस्त क्षेत्र होने के चलते यहां लोगों को तमाम दिक्कतें उठानी पडती है। ऐसे में हेली कम्पनियों की जिम्मेदारी है कि वह अपनी कमाई को कुछ हिस्सा इन आपदा प्रभावित ग्रामीणों की मदद में खर्च करें। कहा कि जो पैसा कंपनियां क्षेत्र के विकास के लिए देंगी, उसका उपयोग प्रभावित क्षेत्र की जनता के लिए संसाधन जुटाने में किया जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि हवाई सेवाओं से जो प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालय प्रभावित हो रहे हैं, उन स्कूलों में हवाई कम्पनियां साउंड प्रुफ रूम तैयार करेंगे। प्राथमिक विद्यालयों में दो और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में तीन साउण्ड प्रूफ रूम बनाएंगेंं, ताकि छात्र-छात्राओं का पठन-पाठन प्रभावित न हों।

जिलाधिकारी ने कहा कि आगामी यात्राकाल से सभी हेली सेवाओं के ऑनलाइन और ऑफलाइन टिकट बुकिंग की केन्द्रीय व्यवस्था की जाएगी, ताकि एक ही जगह से सभी हेलीकम्पनियों के लिए टिकट बुक किया जा सके। इसके लिए एक अलग से वेबसाइट बनाई जाएगी, ताकि यात्रियों को अनावश्यक भागदौडी न करनी पडे। इसके साथ ही स्थानीय उत्पादों के मार्केटिंग के लिए प्रत्येक हेलीपैड पर प्रीफेब्रिकेट आउटलेट भी कम्पनियां द्वारा बनाए जाएंगे। ताकि स्थानीय उत्पादकों को भी रोजगार मिल सके। कहा कि यह सभी व्यवस्थाएं दिसम्बर माह तक अमल में लाई जाएंगी, ताकि आगामी यात्राकाल से व्यवस्थित तरीके से हवाई सेवाएं संचालित हो सके। बैठक में जिलाधिकारी ने हवाई कम्पनियों द्वारा भर्ती किए जाने वाले सेक्यूरेटी स्टाफ को भी प्रशिक्षित करने के निर्देश दिए।

Key Words : Uttarakhand, Rudraprayag, DM, Meeting, heli companies

 

 

LEAVE A REPLY