Home उत्तराखंड सरकारी दफ्तरों से हो प्लास्टिक बंद करने की शुरूआत : अनूप नौटियाल

सरकारी दफ्तरों से हो प्लास्टिक बंद करने की शुरूआत : अनूप नौटियाल

641
0
SHARE

देहरादून/डीबीएल संवाददाता। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर एन्वायर्नमेंटल एक्शन एंड एडवोकेसी ग्रुप के रूप के कार्य कर रही संस्था गति फाउंडेशन ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 2 अक्टूबर से देश मे सिंगल यूज प्लास्टिक बंद करने के लिए अभियान चलाने की घोषणा का स्वागत किया है। संस्था के संस्थापक अनूप नौटियाल का कहना है कि इस अभियान की शुरुआत उत्तराखंड राज्य के सरकारी दफ्तरों और शिक्षण संस्थाओं से की जानी चाहिए जिससे आमजन के बीच सकारात्मक जागरूकता का संदेश पहुंचेगा।

गति फाउंडेशन की ओर से जारी विज्ञप्ति में अनूप नौटियाल ने कहा है कि सिंगल यूज प्लास्टिक पर्यावरण और स्वास्थ्य के लिए बेहद खतरनाक साबित हो रहा है। प्रधानमंत्री द्वारा लाल किले से इसका जिक्र करना ही यह साबित करने के लिए काफी है कि यह समस्या कितनी गंभीर हो चुकी है। उन्होंने प्रधानमंत्री की घोषणा का स्वागत किया और कहा कि पहले से प्लास्टिक उन्मूलन के लिए काम कर रही उनकी संस्था इन दिशा में अब और तेजी से काम करेगी। उनका कहना कि सबसे पहले यह देखना होगा कि सिंगल यूज प्लास्टिक क्या है। प्लास्टिक की सोच, समझ और समस्या सिर्फ पॉलीबाग तक सीमित नहीं है और सिर्फ दुकानों पर छापेमारी करके इससे निपटना संभव नहीं है। इसके लिए एक साथ नए विकल्पों को तलाशते हुए कई कदम उठाने की जरूरत होगी।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के सभी कार्यालयों और शिक्षण संस्थानों में प्लास्टिक बोतल, पाॅली बैग, प्लास्टिक ग्लास, चम्मच, चाकू, थर्माकोल के उत्पाद आदि बंद किये जाएं तो सिंगल यूज प्लास्टिक उन्मूलन की दिशा में बड़ी सफलता मिल सकती है। उन्होंने यह भी उम्मीद जताई की प्रधानमंत्री की अपील के बाद राज्य भर मे विभिन्न सार्वजनिक, राजनैतिक और धार्मिक आयोजनों मे इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक मे भी कमी आएगी। उन्होने समाज के सभी वर्गों से इस अभियान का हिस्सा बनने की अपील की है। 

LEAVE A REPLY