Home उत्तराखंड गंगा की स्वच्छता को जर्मनी की राईन नदी मिसाल: अग्रवाल

गंगा की स्वच्छता को जर्मनी की राईन नदी मिसाल: अग्रवाल

725
0
SHARE

ऋषिकेश। नमामि गंगे के योजना के तहत गंगा की स्वच्छता को लेकर जर्मनी के भारतीय राजदूत डाॅ मार्टिन और उनके साथ आए प्रतिनिधियों ने त्रिवेणी घाट ऋषिकेश में पूजा अर्चना की। इस अवसर पर उत्तराखण्ड विधान सभा अध्यक्ष प्रेम चन्द अग्रवाल ने सभी को गंगाजलि सौंपाी और रूद्राक्ष की माला पहना कर स्वागत किया।

गुरूवार को त्रवेणी घाट पर पूजा अर्चना के बाद उत्तराखण्ड विधान सभा अध्यक्ष एवं जर्मनी राष्ट्र के भारत गणराज्य में राजदूत डाॅ मार्टिन और उनके साथ आये प्रतिनिधिमण्डल ने श्री पूर्णानन्द इण्टर काॅलेज में छात्र-छात्राओं द्वारा तैयार कि गई गंगा की स्वच्छता पर आधारित चित्रकला प्रदर्शनी का उदघाटन कर वृक्षारोपण भी किया।
श्री पूर्णानन्द इण्टर काॅलेज में इण्डो-जर्मन डवलपमेंट काॅरपोरेशन सपोर्ट टू गंगा रिजोवेशन के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में उत्तराखण्ड विधान सभा अध्यक्ष अग्रवाल ने कहा है कि गंगा की स्वच्छता एवं पवित्रता हम सभी का दायित्व है। जर्मन प्रतिनिधिमंडल का स्वागत करतें हुए उन्होंने कहा कि जर्मनी के लोगो के लिए राईन नदी भी गंगा की तरह ही पवित्र है इस नदी में भी बहुत अधिक प्रदूषण हो गया था, लेकिन जर्मन की सरकार ने विगत कई वर्ष पूर्व इस नदी को अपनी तकनीक के माध्यम से स्वच्छ कर दिखाया। अग्रवाल ने कहा कि गंगा की स्वच्छता के लिए जर्मनी की उस तकनीक को भारत सरकार ने भी स्वीकार किया हैै, और नमामि गंगे के तहत आज तकनीकी रूप से गंगा की स्वच्छता को लेकर जर्मनी का यह प्रतिनिधिमंडल ऋषिकेश आया है।

इस अवसर पर डाॅ गैब्रियल, मार्टिना बुकार्ड, एनेट, तान्या फिल्डमैन, अपर सचिव, पेयजल एवं परियोजन निदेशक डाॅ राघव लंगर, डीएफओ राहुल कुमार, रेंजर स्पर्श काला, अनिरू़द्ध कुमार, उत्तम सिंह नेगी आदि उपस्थित थे।

Key Words : Uttarakhand, Rishikesh, Cleanliness of the Ganges, Germany’s Delegation, Speaker of the Assembly

LEAVE A REPLY