Home पर्यटन उत्तराखण्ड पर्यटन उद्योग को पुनर्जीवित करने की कवायद

उत्तराखण्ड पर्यटन उद्योग को पुनर्जीवित करने की कवायद

182
0
SHARE

डीबीएल संवाददाता
देहरादून। कोविड-19 के संकटकालीन दौर में पर्यटन उद्योग को पुनर्जीवित करने के लिए उत्तराखण्ड पर्यटन विकास परिषद् (यूटीडीबी) ने कोरोना महामारी को मद्देनजर रखते हुए दिशा निर्देश जारी किये हैं।

पर्यटन सचिव, दिलीप जावलकर ने कहा है कि पर्यटन उद्योग में विभिन्न क्षेत्रों को समर्थन देने के लिए पुनरुद्धार अवधि के दौरान यूटीडीबी कई योजनाओं को ला रहा है। उत्तराखण्ड आने वाले आगंतुकों की यात्रा को आसान बनाने के लिए हमने पर्यटकों के लिए अनिवार्य कोविड-19 नकारात्मक रिपोर्ट के सभी प्रकार के प्रतिबंधों को हटा दिया है। ऐसे लोगों को राज्य में प्रवेश करने और कितने भी दिन होटल में रहने की अनुमति है। हमने कोविड-19 नकारात्मक परीक्षण रिपोर्ट नहीं लाने वाले आगंतुकों को ऑन द स्पाॅट कोविड-19 परीक्षण सुविधा प्रदान करने के लिए सभी महत्वपूर्ण राज्य सीमाओं पर पर्यटक सुविधा काउंटर स्थापित किए गए हैं।
यूटीडीबी राज्य के 7 सर्वश्रेष्ठ साहसिक स्थलों पर एक अंतर्दृष्टि देने का प्रयास करता है, जिसे आने वाले समय में पर्यटकों द्वारा चुना जा सकता है।

व्हाइट वाटर रिवर राफ्टिंग :

रिवर राफ्टिंग के बारे में बात करें तो ऋषिकेश एक ऐसा नाम है जो एक झटके में उभर के आता है। यह वह स्थान है जहाँ हॉलीवुड अभिनेता ब्रैड पिट ने छह घंटे गंगा में व्हाइट वाटर रिवर राफ्टिंग करते हुए बिताए हैं। ऋषिकेश में शिवपुरी साहसिक उत्साही लोगों के बीच काफी लोकप्रिय है, क्योंकि यह राफ्टिंग के लिए सर्वश्रेष्ठ रिवर रैपिड्स प्रदान करता है। अपनी इच्छा अनुसार पर्यटक आधे से एक दिन की छोटी यात्रा से लेकर चार से पांच दिन की लम्बी यात्रा के लिए ऋषिकेश आ सकते हैं। पर्यटक नदी के किनारे स्थापित सुरम्य रिवर राफ्टिंग कैंप में रहने का विकल्प भी चुन सकते हैं।

वाटर स्पोर्ट्स :

उत्तराखंड के टिहरी में स्तिथ टेहरी झील एशिया में सबसे बड़ी मानव निर्मित झीलों में से एक है। इस जगह की अप्रतिम खूबसूरती को मध्यनजर रखते हुए बॉलीवुड फिल्म श्बत्ती गुल मीटर चालु की प्रमुख शूटिंग यहाँ की गयी थी। टिहरी झील में कई रोमांचक वाटर स्पोर्ट्स गतिविधियों की मेजबानी करी जाती है, जैसे कि बोटिंग, जेट स्पीड बोट राइड, वाटर स्कीइंग, जोरबिंग, बनाना बोट राइड, बैंडवागन बोट राइड, हॉटडॉग राइड, अन्य। वाटर स्पोर्ट्स के अलावा, पर्यटक विशाल टिहरी बांध की सुंदरता का आनंद ले सकते हैं, जो भारत का सबसे ऊंचा बांध है।
उपयुक्त समय अवधि – यद्यपि टिहरी झील का भ्रमण वर्ष के किसी भी समय किया जा सकता है, लेकिन वाटर स्पोर्ट्स के लिए यात्रा करने का सबसे उपयुक्त समय अप्रैल से जून के गर्मियों के महीनों में होता है।

ट्रेकिंग :

उत्तराखंड, विशाल और शानदार पर्वत श्रृंखलाओं की प्रचुरता वाले, ट्रेकिंग और हाइकिंग के उत्साही लोगों के लिए सबसे अच्छा साहसिक गंतव्य प्रदान करता है। सबसे लोकप्रिय ट्रेकिंग स्थलों में काकभुसंडी ट्रेक, चंद्रशिला ट्रेक, देवरिया ताल ट्रेक, रूपकुंड ट्रेक, वैली ऑफ फ्लॉवर ट्रेक, पिंडारी ग्लेशियर हैं।
उपयुक्त समय अवधि – उत्तराखण्ड में ट्रेकिंग के लिए उपयुक्त समय अलग अलग ट्रेक पर निर्भर करता है, लेकिन आदर्श रूप से भूस्खलन के जोखिम के कारण मानसून में ट्रैकिंग नहीं करनी चाहिए।

बंजी जम्पिंग :

बंजी जम्पिंग वास्तव में साहसिक पर्यटन में रूचि रखने वाले पर्यटकों में सबसे पसंदीदा है और उत्तराखंड के ऋषिकेश में विश्व स्तरीय बंजी जम्पिंग की सुविधा होना हमारे लिए गर्व की बात है। ऋषिकेश में मोहन चट्टी में स्थित, जम्पिन हाइट्स देश का सबसे ऊँचा बंजी जम्पिंग स्पॉट है। यह बंजी जम्पिंग स्पॉट भारत में सर्वश्रेष्ठ बंजी जम्पिंग स्थानों में से एक माना जाता है। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि यह भारत का एकमात्र स्थान है जहां बंजी जंपिंग एक निश्चित स्थान से किया जा सकता है। यह जगह सभी साहसिक प्रेमी पर्यटकों के लिए एक बेहतरीन जगह है!
उपयुक्त समय अवधि – ऋषिकेश में बंजी जंपिंग पूरे वर्ष किया जा सकता है, हालांकि मानसून के समय में इसे न करने की सलाह दी जाती है।

पैराग्लाइडिंग :

उत्तराखंड की रमणीक पहाड़ियाँ पैराग्लाइडिंग के लिए एक आदर्श स्थान हैं। उत्तराखंड के कई सर्वश्रेष्ट पैराग्लाइडिंग स्थानों में नौकुचियाताल, भीमताल, पिथौरागढ़ हैं। यहाँ नौसिखिया व अनुभवी उत्साही, दोनों वर्ग के पर्यटकों के लिए अत्याधुनिक पैराग्लाइडिंग सुविधाएं प्रदान की जाती हैं। पैराग्लाइडिंग के जरिये लंबी दूरी तय करने के लिए पर्यटक क्रॉस-कंट्री पैराग्लाइडिंग का विकल्प भी चुन सकते हैं।
उपयुक्त समय अवधि – उत्तराखंड में पैराग्लाइडिंग के लिए सबसे अच्छा समय मई से सितंबर तक रहता है।

वाईल्ड लाईफ सफारी :

उत्तराखंड में कॉर्बेट और राजाजी नेशनल पार्क पर्यटकों के बीच अपने प्रसिद्ध वाईल्ड लाईफ सफारी के लिए काफी प्रसिद्ध हैं। सफारी अलग अलग क्षेत्रों में अधिकृत जिपों के माध्यम से व हाथी की पीठ पर बैठ कर कराई जाती है, जो वन्यजीवों और सुन्दर दृश्यों का लुफ्त उठाने का सबसे अच्छा विकल्प है।
उपयुक्त समय अवधि – उत्तराखंड में वाइल्डलाइफ सफारी के लिए सबसे उपयुक्त समय नवंबर से फरवरी तक रहता है।

स्कीइंग :

उत्तराखंड में सबसे लोकप्रिय साहसिक खेलों में से एक है स्कीइंग। औली में स्थित औली स्की रिजॉर्ट विश्व स्तरीय स्कीइंग सुविधाओं के लिए जाना जाता है। प्राकृतिक ढलान स्लैलोम और क्रॉस-कंट्री जैसे कई स्कीइंग अवसरों के लिए उत्कृष्ट अवसर प्रदान करते हैं।
उपयुक्त समय अवधि – औली में स्कीइंग के लिए सबसे अच्छा समय नवंबर से मार्च के महीनों में रहता है।

उत्तराखंड में आने वाले पर्यटक कुछ अन्य रोचक साहसिक गतिविधियों का भी आनंद ले सकते हैं, जिसमें रॉक क्लाइम्बिंग, बर्ड वॉचिंग, माउंटेन बाइकिंग, एंगलिंग, लेक और रिवर एक्टिविटीज जैसे की बोटिंग, नौकायन, क्याकिंग, रोइंग, फिशिंग और कैनोइंग हैं।

LEAVE A REPLY