Home उत्तराखंड शैक्षणिक भ्रमण के दौरान पंचायतों के अभिनव कार्यों से रू-ब-रू हुए सूबे...

शैक्षणिक भ्रमण के दौरान पंचायतों के अभिनव कार्यों से रू-ब-रू हुए सूबे के पंचायत प्रतिनिधि

835
0
SHARE

देहरादून। पंचायतीराज विभाग द्वारा प्रदेश के 300 पंचायत प्रतिनिधियों एवं कार्मिकों के लिए संचालित किए जा रहे अभिनव प्रशिक्षण कार्यक्रम के दूसरे दिन प्रतिभागियों के चार समूह बनाकर देहरादून की चार ग्राम पंचायतों का शैक्षणिक भ्रमण कार्यक्रम आयोजित किया गया।

मंगलवार को पंचायती राज विभाग के तत्वावधान में सूबे के पंचायत प्रतिनिधियों एवं कार्मिकों के लिए आयोजित अभिनव प्रशिक्षण भ्रमण कार्यक्रम के तहत देहरादून की चार ग्राम पंचायतों पाववाला सौडा, रानी पोखरीग्रान्ट, कारवारीग्रान्ट एवं केदारवाला में शैक्षणिक भ्रमण किया गया। इस दौरान पंचायत प्रतिनिधियों ने पंचायत द्वारा किये गये कार्यों का अवलोकन, ग्राम पंचायत एवं ग्राम सभा की बैठकों तथा उससे सम्बन्धित अभिलेखों एवं ग्राम विकास योजना का निर्माण व प्रक्रिया पर चर्चा की। पंचायत के कार्यो में जनसहभागियों, महिला एवं बाल विकास से सम्बन्धित बिन्दुओं, ओएसआर, आडिट, खाद्यान वितरण प्रक्रिया पर अनुभवों का आदान प्रदान किया गया। ग्रामीणों से ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, नकद रहित लेन-देन के तहत किये जा रहे कार्यों एवं भावी रणनीति, पर चर्चा के साथ ही ग्राम पंचायत द्वारा दी जा रही सेवाओं आदि के बारे में विस्तार से चर्चा की गई। शैक्षणिक भ्रमण को अधिक लाभकारी बनाने के लिए नुक्कड नाटकों, गीत और अभिनव के माध्यम से ग्रामीणों को कूड़ा प्रबंधन, ग्राम पंचायत की योजनायें सहभागिता के आधार पर बनाने एवं नकद रहित लेनदेन के बारे में जागरूक किया गया।

पॉववाला सोडा ग्राम पंचायत में मनरेगा के तहत लोगों को स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने अनुसूचित जाति के परिवारों को संपर्क मार्ग की सुविधा उपलब्ध करवाने तथा ग्राम पंचायत के कार्यों में वार्ड सदस्यों एवं ग्राम पंचायत के सदस्यों की सहभागिता एवं पंचायत के कार्यों का दस्तावेजीकरण करने पर शैक्षणिक दल ने पंचायत को बधाई दी।

ग्राम पंचायत कारवारीग्रान्ट में पंचायत की ओर से स्वयं सहायता समूह के माध्यम से ग्रामीण परिवारों को स्वरोजगार उपलब्ध करवाने ठोस अपशिष्ट प्रबंधन की दिशा में व्यवहारिक कार्य करने तथा एवं ग्राम पंचायत के दस्तावेजों को व्यवस्थित रखरखाव करने की जानकारी साझा की गई।

केदारवाला ग्राम पंचायत द्वारा दल को बताया गया कि सुरक्षा के लिए पंचायत की ओर से सीसी टीवी कैमरे लगाये गये हैं। ग्राम पंचायत की अपनी वेबसाइट तैयार करने के साथ ग्राम पंचायत में ऑनलाइन सेवायें प्रदान की गई हैं।

रानीपोखरी पंचायत भ्रमण करने गए दल ने ग्राम पंचायत द्वारा अपनी पंचायत की आय में वृद्धि करने के तरीकों को समझा और सराहा। रानीपोखरी में ओएसआर के तहत पंचायत द्वारा छह लाख रुपये प्रतिवर्ष ग्रामीण हाट बाजार से पंचायत का आय बढ़ाई जा रही है। साथ ही पंचायत द्वारा ग्राम सभा के सभी सदस्यों को इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध करवाने के साथ ऑनलाइन सेवाएं प्रदान की जा रही हैं।
रायपुर विकास खंड की प्रमुख बीना बहुगुणा, खंड विकास अधिकारी सुधा तोमर, डीपीआरओ जफर खान सहित स्थानीय वक्ताओं ने पंचायत प्रतिनिधियों से विभाग के अभिनव प्रशिक्षण कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुए पंचायतों द्वारा किए अभिनव कार्यों से सीख लेते हुए कार्य करने का आह्वान किया गया।

दल के सदस्यों के साथ पंचायती राज विभाग के नोडल अधिकारी सीपी सुयाल, प्रकाश रतूड़ी, राकेश शर्मा, रमेश शर्मा, सतपाल राणा, यशवीर रावत, मेघा शर्मा, कुसुम सेमवाल, योगेश नेगी सहित ग्राम प्रधान बीडी खोलिया, सुबोध गोयल, रघुवीर सिंह, सुनीता देवी, मीनू क्षेत्री, बाला चौहान, रेखा, सुनीता, प्रदीप मलासी, रतीश जोशी सहित गढ़वाल व कुमाऊं मंडल के पंचायत प्रतिनिधि शामिल रहे।

Key Words : Uttrakhand, Dehradun, Panchayti Raj Dept., Training Programme

 

LEAVE A REPLY