Home उत्तराखंड आफत की बारिश से सड़कें बनीं तालाब, जनजीवन हुआ अस्त-व्यस्त

आफत की बारिश से सड़कें बनीं तालाब, जनजीवन हुआ अस्त-व्यस्त

613
0
SHARE

देहरादून । उत्तराखंड में मौसम विभाग का पूर्वानुमान सही साबित हुआ। लगातार हो रही बारिश ने लोगों की परेशानियां बढ़ा दी हैं। बारिश से पछवादून क्षेत्र में जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया। पछवादून के सभी क्षेत्रों में बुधवार को हो रही बारिश से लोग घरों में कैद होने को मजबूर हो गए और लोगों को ऑफिस और जरूरी कामों के लिए घर से बाहर निकलने पर काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। कई जगह नालियां बंद होने से सड़कों पर जलभराव की समस्या हो वहीं खराब मौसम चलते पहाड़वासियों का जीना मुहाल हो गया है। बारिश के चलते पहाड़ों से मलबा आने के कारण लोग घरों में कैद होकर रह गए हैं।

बुधवार सुबह शुरू हुई मूसलाधार बारिश के चलते देहरादून में रिस्पना, बिंदाल, सौंग आदि नदियां पूरे उफान पर नजर आईं। नदियां के किनारे बस्तियों में रहने वाले लोग पूरे दिन दहशत में बारिश बंद होने की दुआ करते दिखे। सहसपुर क्षेत्र में आसन नदी का जलस्तर बढ़ गया है। जिससे आसपास के इलाकों में रहने वाले लोगों को पुलिस प्रशासन द्वारा अलर्ट जारी कर सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए कहा गया है। पुलिस प्रशासन ने सभी क्षेत्रों में पुलिस बल तथा आपदा प्रबंधन की टीमों द्वारा किसी भी स्थिति से निपटने के लिए अलर्ट पोजीशन में रहने को कहा है।

मौसम विभाग की चेतावनी के बाद भी खुले रहे स्कूल :
देहरादून। मौसम विभाग के बारिश को लेकर किए गए 48 घंटे के पूर्व अलर्ट के बावजूद दून के सभी स्कूल खुले रहे, जिससे बच्चों के साथ उनके अभिभावकों को भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। इसे प्रशासन की लापरवाही समझा जाए। या फिर स्कूलों की मनमानी । भारी बारिश के चलते यदि स्कूल भवन में जलभराव या किसी अन्य तरह का हादसा हो जाता तो उसका जिम्मेदार कौन होता ?

Key Words : Uttarakhand, Dehradun, Heavy Rain, School, Alaert

Due to rain road become pond, life has become disorganized

LEAVE A REPLY