Home सामाजिक सरोकार बच्चों में नशा, भिक्षावृत्ति और अपराध की प्रवृत्ति – “चाइल्ड फ्रैण्डली स्पेस”...

बच्चों में नशा, भिक्षावृत्ति और अपराध की प्रवृत्ति – “चाइल्ड फ्रैण्डली स्पेस” बनाकर बचपन बचाने पर किया मंथन

108
0
SHARE

डीबीएल संवाददाता/ देहरादून

बाल संरक्षण योजना के तहत ऋषिकेश में बच्चों को नशा, भिक्षावृत्ति और अपराध की गिरफ्त से बचाने को लेकर चाइल्ड फ्रैण्डली स्पेस बनाये जायेंगे। इस बारे में मुख्य विकास अधिकारी एवं प्रभारी जिलाधिकारी नितिका खण्डेलवाल की अध्यक्षता में कलेक्टेªट सभागार में बैठक आयोजित की गयी।

बैठक में सम्बन्धित विभागों और बच्चों की सुरक्षा एवं कार्यों के प्रति समर्पित गैर सरकारी संगठनों, आश्रम संचालकों को और बाल कल्याण हेल्पलाईनों के प्रतिनिधियों द्वारा ऋषिकेश को पूरी तरह से बाल नशामुक्त, बाल भिक्षावृत्ति मुक्त और बाल अपराधमुक्त बनाने के सम्बन्ध में मंथन किया गया। मुख्य विकास अधिकारी ने अफसरों को रेस्क्यू किए गये बच्चों को बाल सुरक्षा प्रावधिानों के अनुसार शिक्षा, रहन-सहन, स्क्ल्डि प्रशिक्षण, माता-पिता व बच्चों की काउन्सिलिंग आदि सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

बैठक में जिला प्राबेशन अधिकारी मीना बिष्ट, जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास डाॅ अखिलेश मिश्रा, जिला समाज कल्याण अधिकारी हेमलता पाण्डेय, मुख्य शिक्षा अधिकारी आशा पैन्यूली, जिला पंचायतीराज अधिकारी जितेन्द्र सिंह सहित बचपन बचाओ आन्दोलन, गैर सरकारी संगठनों के सदस्य उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY