Home उत्तराखंड दून शीशमबाड़ा सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट – सीएम त्रिवेन्द्र ने मशीन को...

दून शीशमबाड़ा सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट – सीएम त्रिवेन्द्र ने मशीन को किया ऑन

518
0
SHARE

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मंगलवार को प्रदेश के पहले सॉलिड वेस्ट प्रोसेसिंग कम्पोस्टिंग एण्ड सेनेटरी लैण्डफिल डिस्पोजल प्लान्ट शीशमबाड़ा, देहरादून की शुरूआत की। नगर निगम देहरादून द्वारा निर्मित देहरादून सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट की इस परियोजना की लागत 36 करोड़ रुपये है। 8.32 एकड़ में निर्मित इस परियोजना में लगभग 350 मीट्रिक टन कूड़े का निस्तारण होगा।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि इस सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लान्ट में देहरादून शहर व अन्य क्षेत्रों का लगभग 350 मीट्रिक टन कूड़े का निस्तारण किया जायेगा। उन्होंने कहा कि भविष्य में इस क्षेत्र के आस-पास के गांवों के कूड़े का भी यहां निस्तारण होगा, उन्होंने कहा कि प्लान्ट से 6 से 8 मेगावाट विद्युत उत्पादन के भी प्रयास किये जाएं, जैसा कि दिल्ली व अन्य शहरों में व्यवस्था है। उन्होंने कहा कि अभी इस प्लान्ट में शुरूआत में दुर्गंध आने की समस्या है। उन्होंने इसकी रोकथाम के लिये प्रभावी प्रयास किये जाने के निर्देश भी दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्लान्ट की दुर्गन्ध को ऊर्जा में परिवर्तित करने के प्रयास से स्थानीय लोगों की समस्याओं का भी समाधान होगा। इस प्लान्ट में एवियेशन फ्यूल बनाये जाने की भी व्यवस्था के निर्देश उन्हांने दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे बनने वाली खाद किसानों के काम आयेगी तथा कृषि उत्पादों को बढ़ावा मिलेगा।

उन्होंने कहा कि प्लान्ट की दुर्गन्ध से शुरूआती दौर में कुछ परेशानी हो सकती है। कोई भी योजना जब शुरू की जाती है तो उससे प्रारम्भिक तौर पर कुछ परेशानी होती है, कार्यदायी संस्था द्वारा इस समस्या का स्थायी निदान किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने प्लान्ट के आस-पास के क्षेत्र में अधिक से अधिक फलदार वृक्ष लगाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इन वृक्षों से जहाँ एक ओर प्लांट की ध्वनि को रोकने में मदद मिलेगी वहीं हवा में फैली धूल को भी रोकने में मदद मिलेगी। इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के प्लांट की मशीन का स्विच ऑन कर इसकी शुरूआत की।

इस अवसर पर नगर विकास मंत्री, मदन कौशिक ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट की दिशा में तेजी से कार्य किया जा रहा है। अभी देहरादून से इसकी शुरूआत हुई है, शीघ्र ही रूड़की, हरिद्वार और हल्द्वानी में भी इस योजना की शुरूआत की जायेगी। अगले एक वर्ष में प्रदेश के 92 निकायों में भी सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट की व्यवस्था की जायेगी। हमारा प्रयास है कि राज्य के वेस्ट को बेकार न जाने दिया जाए। जन जागरूकता से इसके प्रभावी प्रयास किये जाएंगे।

कार्यक्रम को क्षेत्रीय विधायक सहदेव पुण्डीर, मेयर एवं विधायक विनोद चमोली ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर विधायक खजानदास, नगर आयुक्त डॉ. विजय कुमार जोगदंडे, भाजपा जिलाध्यक्ष शमशेर सिंह बिष्ट, भाजपा महानगर अध्यक्ष विनय गोयल, भाजपा नेता सुनील उनियाल, रेमकी ग्रुप के राम मोहन सिंह आदि उपस्थित थे।

हरिद्वार महाकुंभ-2021 : मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों से मांगे सुझाव :

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने वर्ष 2021 में हरिद्वार में आयोजित होने वाले पूर्ण महाकुंभ के लिये थीम पर आधारित लोगो के लिये प्रदेशवासियों से सुझाव देने का आह्वान किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2021 में आयोजित होने वाला महाकुम्भ उत्तराखण्ड द्वारा आयोजित होने वाला दूसरा पूर्ण महाकुम्भ है। इस कुम्भ के महाआयोजन की सफलता के लिये सभी का सहयोग एवं सुझाव अहम् हैं।

LEAVE A REPLY