Home उत्तराखंड दून को स्मार्ट सिटी बनाने में मूल स्वरूप से न हो छेड़छाड़...

दून को स्मार्ट सिटी बनाने में मूल स्वरूप से न हो छेड़छाड़ : डोभाल

674
0
SHARE

देहरादून। पीआरएसआई, देहरादून चैप्टर और गति फाउंडेशन देहरादून के संयुक्त तत्वावधान में रविवार को रोल आफ कम्युनिकेशन इन सिटीजन इंगेजमेंट फॉर देहरादून स्मार्ट सिटी विषय पर कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि डॉ. राजेंद्र डोभाल ने कहा कि स्मार्ट सिटी के रूप में देहरादून का चयन हुआ है, लेकिन हमें इस बात का ध्यान रखना होगा की देहरादून का मूल स्वरूप बना रहे। प्रत्येक नागरिक को तकनीक से जुड़ना भविष्य की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी में वैज्ञानिक तकनीक का अधिक से अधिक उपयोग किया जाना होगा, जिसके लिए व्यापक जनजागरण जरुरी है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी के लिए सिटीजन एम्पावरमेंट पर जोर दिया जाना होगा।

कार्यशाला को संबोधित करते हुए विशिष्ट अतिथि मीडिया सलाहकार मुख्यमंत्री रमेश भट्ट ने कहा कि स्मार्ट सिटी बनाने का उद्देश्य आम जनमानस को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराना है। भट्ट ने कहा कि किसी भी राज्य और देश के विकास में वहां के नागरिकों का अहम् योगदान होता है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के बेहतर विकास के लिए प्रत्येक नागरिक को अपने सुझाव सरकार को देने चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जल्द ही डलहवअ. पद का उत्तराखंड चैप्टर शुरू करने जा रहे है, जिसमे कोई भी व्यक्ति अपने सुझाव दे सकता है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी के लिए हम सभी को स्मार्ट सिटीजन होना पड़ेगा। अपने आस पास स्वछता का वातावरण तैयार करना होगा। राज्य के विकास में जनसहभागिता पर जोर देना होगा। राज्य सरकार उत्तराखंड को एक आदर्श राज्य में रूप में विकसित करने के लिए प्रतिबद्ध है।

गति फाउंडेशन के संस्थापक एवं समाजसेवी अनूप नौटियाल ने स्मार्ट सिटी विषय पर प्रस्तुतिकरण दिया। नौटियाल ने प्रस्तुतिकरण के माध्यम से बताया कि देहरादून में स्मार्ट सिटी के अंतर्गत क्या क्या कार्य किये जायेंगे। आम जनमानस को क्या क्या सुविधाएं मिलेंगी। पीआरएसआई देहरादून चेप्टर के अध्यक्ष विमल डबराल ने पीआरएसआई के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

कार्यशाला में पीआरएसआई सचिव अनिल सती, कोषाध्यक्ष सुरेश चंद्र भट्ट, सदस्य अमित पोखरियाल हेम प्रकाश,, कंडवाल, संजय सिंह, डीएस, कंडारी, विकास, शरद शर्मा, महेश खखरियाल, अनिल वर्मा, अमन नैथानी, रवि बिष्ट, सुशील आदि मौजूद रहे।

Key Words : Uttarakhand, Dehradun, Smart City, PRSI, Gati Faundation

 

LEAVE A REPLY