Home खेल दिव्यांग बैडमिंटन खिलाड़ियों ने दून के परेड ग्राउंड में दिखाई प्रतिभा

दिव्यांग बैडमिंटन खिलाड़ियों ने दून के परेड ग्राउंड में दिखाई प्रतिभा

221
0
SHARE

डीबीएल संवाददाता/देहरादून। विंटर पैरा गेम्स ट्रेनिंग कैंप की तैयारी को लेकर आदित्य मेहता फाउंडेशन (एएमएफ) एवं उत्तराखंड पर्यटन विकास बोर्ड संयुक्त रूप से पैरा-स्पोर्ट्स को बढ़ावा देने और लक्ष्य“ मिशन 100 ”को बढ़ावा देने के लिए कई रोड शो का आयोजन करेंगे। एएमएफ के संस्थापक आदित्य मेहता ने बताया कि औली में होने वाले आगामी विंटर पैरा गेम्स में 80 दिव्यांग खिलाड़ियों की सशक्त और प्रशिक्षित टीम उतारी जाएगी जिसमें ड्यूटी के दौरान दिव्यांगता के शिकार हुए देश भर से आईटीबीपी, सीआरपीएफ, बीएसएफ के अधिकारी और जवान शामिल होंगे।

गुरूवार को परेड ग्राउंड बैडमिंटन कोर्ट में पूर्व विश्व चैंपियन आनंद कुमार बोरगौड़ा, एशियाई पैरा खेलों के कांस्य पदक विजेता चिराग बरेठा, और विश्व के प्रतिष्ठित दिव्यांग बैडमिंटन खिलाड़ी गिरीश शर्मा ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। इस अवसर पर उत्तराखंड पुलिस के डीजी, लाॅ एंड आर्डर अशोक कुमार एवं सचिव खेल भूपिंदर कौर औलख ने दिव्यांग खिलाड़ियों के मनोबल की सराहना करते हुए उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनायें दीं।

एमएफ के संस्थापक आदित्य मेहता ने बताया कि औली में आयोजित होने वाले विंटर पैरा गेम्स टीम को प्रशिक्षण देने के लिए एएमएफ के विशेषज्ञ पैरा गेम ट्रेनर, कोच और बेस्ट फिजियो-थेरेपिस्ट की व्यवस्था की गई है। टीम में शामिल होने वाले पैरा-एथलीटों को विभिन्न परीक्षणों के माध्यम से चयनित कर सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को पेशेवर अंतर्राष्ट्रीय शीतकालीन पैरा खेलों जिनमें अल्पाइन स्कीइंग, बैथलॉन, क्रॉस कंट्री स्कीइंग, आइस स्लेज हॉकी, पैरा स्नोबोर्डिंग आदि में राष्ट्रीय टीम का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना जाएगा। प्रशिक्षण औली, उत्तरांचल में आयोजित किया जाएगा। साथ ही एएमएफ वर्ष 2020 में अंतर्राष्ट्रीय पैरा गेम्स कार्यक्रम की मेजबानी भी करेगा। इस आयोजन में दुनिया भर के शीर्ष पैरा-एथलीट दिखाई देंगे।

इस अवसर पर जिला खेल अधिकारी देहरादून राजेश ममगाईं, आईटीबीपी एवं बीसीएफ के अधिकारी, जवान और आमंत्रित अतिथि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY