Home पर्यटन पर्यटन विकास के साथ हो आर्थिकी व प्रतिभा का भी विकास :...

पर्यटन विकास के साथ हो आर्थिकी व प्रतिभा का भी विकास : सीएम

407
0
SHARE

15 से 21 जनवरी 2018 तक होना है फेडरेशन ऑफ इंटरनेशनल स्कीइंग रेस का आयोजन

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री आवास में फेडरेशन ऑफ इंटरनेशनल स्कीइंग रेस 2018 की तैयारियों को लेकर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज एवं वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। 15 जनवरी 2018 से 21 जनवरी 2018 तक प्रस्तावित रेस के सफल आयोजन के लिए औली में समस्त आवश्यक सुविधाओं पर विस्तृत चर्चा की गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यटन के विकास के साथ ऐसे अवसरों का उपयोग स्थानीय आर्थिकी और प्रतिभा के विकास में भी होना चाहिए।

सोमवार को मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि अन्तर्राष्ट्रीय इवेंट के लिए जो भी स्थान विकसित किये जा रहे हैं, उनमें दीर्घकालीन योजनाओं का भी विशेष ध्यान रखा जाए। सभी सुविधाओं और उपकरणों के रख रखाव के लिए आवश्यक है कि ऐसी जगहों पर वर्ष पर्यन्त छोटे बड़े आयोजन होते रहने चाहिए। उन्होंने कहा की प्रतियोगिता में उत्तराखंड के खिलाड़ियों के लिए प्रवेश शुल्क को सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि एफआईएस रेस के सफल आयोजन के लिए इसका व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जाए।

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि अन्तर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के आयोजन से उत्तराखण्ड में पर्यटन को बढ़ावा तो मिलेगा ही साथ ही स्थानीय लोगों के रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि दीर्घकालीन योजनाएं बनाकर पर्यटन स्थलों को विकसित किया जायेगा। जिससे आगामी समय में उत्तराखण्ड में शीतकालीन खेलों का समय-समय पर आयोजन हो सके।

सचिव पर्यटन आर मीनाक्षी सुंदरम ने जानकारी दी कि एफआईएस रेस के आयोजन के लिए कई सिविल कार्य भी किये जाने हैं। गढ़वाल मण्डल विकास निगम से रोपवे, स्कीलिफ्ट, चेयर कार के सुरक्षा प्रमाण पत्र लिये जायेंगे।

बैठक में मुख्य सचिव एस रामास्वामी, विंटर गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष कर्नल जेएस ढिल्लन, आईटीबीपी के पूर्व डीआईजी एसपी चमोली, एसएस पांगती, जिलाधिकारी चमोली आशीष जोशी आदि उपस्थित रहे।

Key Words : Uttarakhand, Dehradun, CM, Federation of International Skiing Race, meeting

LEAVE A REPLY