Home उत्तराखंड रुद्रप्रयाग में स्थायी राजधानी गैरसैंण की मांग हुई तेज – जनगीत गाकर...

रुद्रप्रयाग में स्थायी राजधानी गैरसैंण की मांग हुई तेज – जनगीत गाकर निकाला मशाल जुलूस

576
0
SHARE

रुद्रप्रयाग। गैरसैंण स्थाई राजधानी की मांग को लेकर विरोध के स्वर तेज हो गए हैं। रुद्रप्रयाग में स्थानीय लोगों ने जनगीत गाकर मशाल जुलूस निकाला और प्रदेश सरकार से गैरसैंण राजधानी बनाये जाने की मांग की। इस मौके पर वक्ताओं ने एक स्वर में कहा कि सरकार ने जल्द गैरसैंण को स्थाई राजधानी घोषित नहीं किया तो जनता उग्र आंदोलन करेगी।

गुरूवार को रुद्रप्रयाग में व्यापारियों, छात्रों और विभिन्न संगठनों से जुड़े लोगों ने जीएमवीएन से पेट्रोल पम्प तक जनगीत के साथ मशाल जुलूस निकाला। बड़ी संख्या में जुटे लोगों ने विरोध प्रकट करते हुए कहा कि पिछले 17 सालों से सरकारें स्थाई राजधानी तय नहीं कर पाई हैं। यह उत्तराखंड का सबसे बड़ा दुर्भाग्य है। कर्ज के बोझ के तले दबे एक छोटे से प्रदेश में दो-दो राजधानी ग्रीष्मकालीन और शीतकालीन बनाने की बातें कही जा रही हैं। जिसका विरोध किया जाएगा। गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाने के बाद ही आंदोलन को समाप्त किया जाएगा।

वक्ताओं ने यह भी कहा कि गैरसैंण स्थाई राजधानी बनने से पहाड़ में विकास का विकेन्द्रीकरण होगा। गांव से हो रहे पलायन पर अंकुश लगने के साथ ही स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के रास्ते खुलेंगे। व्यापारियों ने कहा कि पहाड़ खाली होने से उनका व्यवसाय भी प्रभावित हो रहा है। इसी तरह गांव के गांव खाली होते रहे तो एक दिन उनका व्यवसाय पूरी तरह चरमरा जाएगा।

Key Words : Uttarakhand, Rudraprayag, permanent capital, Demanded, fasting torch

LEAVE A REPLY