Home राजनीतिक दून के कांग्रेसियों ने किया समाज कल्याण अधिकारी का घेराव

दून के कांग्रेसियों ने किया समाज कल्याण अधिकारी का घेराव

722
0
SHARE

देहरादून। समाज कल्याण विभाग में अनियमितताओं की शिकायत पर पूर्व विधायक राजकुमार के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने समाज कल्याण विभाग के अधिकारी का घेराव किया गया। पूर्व विधायक राजकुमार ने आरोप लगाया कि वर्ष 2016-2017 की अनुसूचित जाति/जनजाति/पिछड़ी जाति के छात्र-छात्राओं को वर्तमान तक छात्रवृति नहीं मिली है। उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की है कि भाट सिख जाति जो कि अन्य पिछड़ा वर्ग के अन्तर्गत आती है इसका शासनादेश जारी करवाया जाए, ताकि इस वर्ग के लोगों को भी योजनाओं का लाभ मिल सके।

बुधवार को देहरादून के समाज कल्याण विभाग पहुंचे पूर्व विधायक राजकुमार ने कहा कि छात्रवृति न मिलने के कारण छात्रों को संस्थानों/विद्यालयों से निकाला जा रहा है, इस कारण छात्रों का भविष्य भी अंधकार में हो रहा है, जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी विभाग की है। विभाग के अधीन एकमात्र अनुसूचित जाति का स्कूल जो कि डीएल रोड पर स्थित है लेकिन उक्त विद्यालय में न तो छात्रों को छात्रवृति मिल रही है हालांकि उक्त विद्यालय में मात्र एक ही अध्यापिका है, वहीं के छात्र जमीन पर बैठ रहे हैं जिनके लिए फर्नीचर की भी कोई व्यवस्था नहीं है।

उन्होने कहा कि पूर्व में लाभार्थियों को गौरादेवी कन्याधन योजना से निर्धन कन्याओं को लाभ मिल रहा था, लेकिन कुछ समय से विभाग द्वारा इस योजना को बन्द कर दिया गया है। बाल विकास विभाग द्वारा नन्दा गौरा देवी योजना प्रारम्भ की गई है, जिसके अन्तर्गत लगभग 16 वर्ष में पात्र को योजना का लाभ मिलेगा, जबकि गौरादेवी कन्याधन योजना के अन्तर्गत एकमुश्त रू 50,000 की एफडी प्रदान की जाती थी। इस योजना को सुधार कर निर्धन छात्राओं को इसका लाभ मिलना चाहिए। वृद्धजनों के फिंगर प्रिंट आधार कार्ड के आवेदन पर न आने से उनके आधार कार्ड नहीं बन पा रहे हैं, ऐसी स्थिति में उन्हें पेंशन नहीं मिल रही है। अनुसूचित जाति एवं विधवा महिलाओं की पुत्रियों के विवाह हेतु भी विभाग द्वारा काफी समय से धनराशि आवंटित नहीं की गई है, वर्ष 2017-2018 के आवेदन भी विभाग के पास आने प्रारम्भ हो गए हैं।

विधायक राजकुमार ने आरोप लगाया कि विभाग द्वारा बेरोजगारों को स्वतः रोजगार योजना के अन्तर्गत ऋण को भी अभी तक शुरू नहीं किया गया है। विभाग द्वारा एससीपी (अनुसूचित जाति उपयोजना) के अन्तर्गत मलिन बस्तीयों एवं अनुसूचित बाहूल्य क्षेत्रों में सामाजिक कार्यों हेतु सामुदायिक भवन बनवाए जाते हैं लेकिन कुछ समय से इस प्रक्रिया पर भी विराम लग गया है।

घेराव करने वालों में कांग्रेस की महिला महानगर अध्यक्ष कमलेश रमन, पूर्व महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा, पार्षद डाॅ. बिजेन्द्र पाल सिंह, अर्जुन सोनकर, प्रकाश नेगी, प्रदेश सचिव सोमप्रकाश वाल्मीकि, पूर्व पार्षद मोहन जोशी, मुकेश सोनकर, जहांगीर खान, मनोज कुमार, दीप वोहरा, राहुल शर्मा, अनिल धीमान, अनिल सिंगारी, ताराचन्द नागपाल, सुरेश पारछे, राजेन्द्र बिष्ट, नरेन्द्र राणा आदि शामिल रहे।

Key Words : Uttarakhand, Dehradun, Social Welfare Officer, Encircle, Congressmen

LEAVE A REPLY