Home उत्तराखंड विस सत्र गैरसैंण में न किए जाने पर कांग्रेसियों का सरकार पर...

विस सत्र गैरसैंण में न किए जाने पर कांग्रेसियों का सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप

807
0
SHARE

देहरादून। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की अगुवाई में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत गुरूवार को भाजपा की प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर हमला बोला। पुलिस ने विधानसभा की ओर जा रहे कांग्रेसियों को रिस्पना पुल के पास रोक दिया। कांग्रेसी कार्यकर्ता वहीं सड़क पर दरी बिछा कर सांकेतिक उपवास पर बैठ गए और करीब एक घंटे तक वे वहीं जमे रहे। इस दौरान अपने संबोधन में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि भाजपा की सरकार ने बजट सत्र गैरसैंण में न रखकर प्रदेश की जनता से वादाखिलाफी की है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि अच्छे दिन का वादा कर भाजपा की मध्यप्रदेश सरकार ने किसानों की हत्या की है। उन्होने कहा कि विधानसभा से गैरसैण बजट सत्र करने का प्रस्ताव करा था, भाजपा की प्रदेश सरकार ने विधानसभा सत्र गैरसैण में न कर जनता का अपमान किया है, प्रीतम सिंह ने एनएच74 सहित कई मुद्दों पर प्रदेश सरकार पर जोरदार हमला किया।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि बजट सत्र को गैरसैण में करने का निर्णय विधानसभा के संकल्प के रुप में लिया गया था, भाजपा की सरकार ने बजट सत्र वहा न कर उत्तराखण्ड़ की जनता का अपमान किया है। उन्होंने केंद्र सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा कि किसान अपने उत्पाद का दाम मांगते है तो उन पर गोलियां बरसाई जा रही हैं। उपवास स्थल पर किसानों की दिवंगत आत्माओं की शान्ति के लिए एक मिनट का मौन रखने के बाद कहा कि वह शुक्रवार को हरिद्वार, हरकी पैड़ी, गंगा तट मृत आत्माओं की शान्ति की प्रार्थना करेंगे।

इस अवसर पर पूर्व मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी, मातवर सिंह कण्डारी, राजेन्द्र भण्डारी, अनुसुईया प्रसाद मैखूरी, मुख्य प्रवक्ता सुरेन्द्र कुमार, पूर्व विधायक राजकुमार, महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य, अनुपमा रावत, वरिष्ठ उपाध्यक्ष आशा मनोरमा डोबरियाल शर्मा, कमलेश रमन, खष्टी बिष्ट, आशा टम्टा, सुशील राठी, राजपाल खरोला, जयपाल जाटव, दीप शर्मा, जयेन्द्र रमोला, प्रयाग भटट्, प्रभुलाल बहुगुणा, महेश जोशी, गोदावरी थापली सहित सैकड़ों कांग्रेसी मौजूद थे।

Key Words : Uttarakhand, Dehradun Congressmen, non-violent session

LEAVE A REPLY