Home उत्तराखंड मुख्यमंत्री ने हिमनी गांव में किसानों के साथ बंटाया हाथ

मुख्यमंत्री ने हिमनी गांव में किसानों के साथ बंटाया हाथ

594
0
SHARE

चमोली/देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत मंगलवार को चमोली जनपद के देवाल ब्लाक के अंतिम गांव हिमनी में किसानों के बीच उनके खेतों में पहुंचे। किसानों और काश्तकारों के साथ वेमौसमी मटर की फसल कटाई का शुभांरभ करते हुए मुख्यमंत्री ने किसानों का उत्साहवर्धन किया। इस दौरान मुख्यमत्री ने जड़ी बूटी की खेती के साथ-साथ सब्जी उत्पादन के क्षेत्र को आर्थिकी का जरिया बनाने वाले किसानों मुख्यमंत्री ने मटर के खेतों में जाकर मटर की फलियाॅ भी तोड़ीं।

मंगलवार को मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि हिमनी क्षेत्र में मटर की खेती के लिए बहुत अच्छा क्लाइमेट है यहाॅ पर वेमौसमी मटर की खेती कर किसान बहुत अच्छी आजीविका कमा सकते है। उन्होंने कहा कि बेमौसमी मटर की खेती से काश्तकारों को अच्छे दाम तो मिलेंगे ही, साथ ही मटर के छिलके दुधारू पशुओं को खिलाकर दुग्ध उत्पादकता को भी बढाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि मटर की जड़ों में नाइट्रोजन ग्रन्थियां होती है, जो मिट्टी की उत्पादकता और अधिक बढाने में मददगार साबित होती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सीमांत क्षेत्रों में अखरोट एवं सेब की अच्छी किस्म की पौध काश्तकारों को उपलब्ध कराकर उनकी आर्थिकी को और मजबूत बनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में शीघ्र ही सब्जी भण्डारण एवं विपणन केन्द्र की व्यवस्था भी करायी जायेगी। इस वर्ष मटर की फसल से एक से डेढ करोड रूपये की आय काश्तकारों को होने की सम्भावना है। वही अगले वर्ष इस आय को 5 करोड़ रुपये पहुॅचाने का लक्ष्य रखा गया है।

क्षेत्रीय विधायक मगन लाल शाह ने अंतिम गांव हिमनी पहुॅचने पर सीएम का आभार व्यक्त करते हुए क्षेत्र की समस्याओं से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। उन्होंने आॅली बुग्याल में पर्यटक गतिविधियों को बढाने हेतु रोपवे का निर्माण कराये जाने, क्षेत्र के गांवों में विद्युतीकरण करने, संचार सेवा उपलब्ध कराने, कोल्ड स्टोरेज व सतलुज डैम बनाने की मांग मुख्यमंत्री की समक्ष रखी।

कर्णप्रयाग विधायक सुरेन्द्र सिंह नेगी ने सुदूरवर्ती क्षेत्र में पहुॅचकर किसानों/काश्तकारों का उत्साहवर्धन करने हेतु सीएम का आभार व्यक्त किया। साथ ही गैरसैंण क्षेत्र में होने वाले पर्यटन विकास मेले में प्रतिभाग करने हेतु आमंत्रण भी दिया।

इस अवसर पर पंचायत अध्यक्षा मुन्नी देवी शाह, भाजपा जिला अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल, उपाध्यक्ष अरुण मैठाणी, महामंत्री पंकज डिमरी, मण्डल अध्यक्ष गिरीश चन्द्र मिश्रा, ग्राम प्रधान हिमनी हरकी देवी अन्य जनप्रतिनिधियों सहित सचिव डा. डी सेथिल पाडियन, कमिश्नर गढवाल दिलीप जावलकर, जिलाधिकारी आशीष जोशी, पुलिस अधीक्षक तृप्ति भट्ट, सीडीओ विनोद गोस्वामी व जिला स्तरीय अधिकारी, क्षेत्रीय जनता उपस्थित थीं।

देवधारी बांध निर्माण साबित होगा वरदान : सीएम

मुख्यमंत्री ने घेस गांव में फाॅरेस्ट गेस्टहाउस का उच्चीकृत करने, राइका घेस में शिक्षकों की तैनाती करने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि हिमनी जैसे सीमांत गांवों में 2018 तक प्राथमिकता के आधार पर बिजली पहुॅचायी जायेगी। जिन परिवारों तक बिजली नही पहुॅच सकी, उन्हें निःशुल्क सोलर ब्रीफकेश उपलब्ध कराया जायेगा। क्षेत्र में मोबाईल नेटवर्क की समस्या पर उन्होंने कहा कि बैलून टैक्नोलाॅजी के माध्यम से क्षेत्र को मोबाईल नेटवर्क से जोडा जायेगा। देवसारी बांध क्षेत्र के लिए वरदान साबित होगा। इस बांध को बनाने के लिए भी पूरे प्रयास किये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि आॅली-वेदनी बुग्याल में पर्यटकों की सुविधाओं को भी विकसित किया जायेगा।

Key Words : Uttarakhand, Chamoli, Chief Minister,Farmers, Himani village

 

LEAVE A REPLY