Home उत्तराखंड विकास की राह – बाली व उत्तराखण्ड मिलकर करेंगे साझा प्रयास

विकास की राह – बाली व उत्तराखण्ड मिलकर करेंगे साझा प्रयास

586
0
SHARE

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सोमवार को मुख्यमंत्री आवास में बाली (इण्डोनेशिया) के राज्यपाल आई माडे मांग्कु पास्तिका के साथ पांच बिन्दुओं के लैटर ऑफ इंटेंट पर हस्ताक्षर किये। पर्यटन और संस्कृति, ई-गवर्नेंस, मानव संसाधन एवं क्षमता संवर्द्धन, पर्यावरण और स्वास्थ्य के सम्बन्ध में बाली एवं उत्तराखण्ड एक दूसरे को सहयोग करेंगे।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि बाली एवं उत्तराखण्ड के पर्यटन, संस्कृति, पर्यावरण, स्वास्थ्य एवं अन्य क्षेत्रों में आपसी सहयोग से दोनों राज्यों के सम्बन्धों में निकटता भी आयेगी। उन्होंने कहा कि बाली भी उत्तराखण्ड की तरह प्रमुख पर्यटक स्थल है इस समझौते के बाद पर्यटकों के आवागमन में विशेष लाभ होगा। उत्तराखण्ड में इण्डोनेशिया के पर्यटकों की संख्या भी बढ़ेगी।

बाली के राज्यपाल श्री आई माडे मांग्कु पास्तिका ने कहा कि बाली हिन्दु बहुल प्रान्त है। यहाँ लगभग 90 फीसदी हिन्दू हैं। बाली से हरसाल लगभग पांच हजार लोग हरिद्वार एवं ऋषिकेश आते हैं। उन्होंने कहा कि बाली प्रमुख पर्यटक स्थल है। बाली में प्रतिदिन लगभग 17 हजार विदेशी पर्यटक आते हैं। बाली में रामायण एवं महाभारत जैसे धर्मग्रंथों का अनुसरण करने वालों की संख्या बहुत अधिक है। वैदिक कालीन कृषि पद्धति बाली में प्रचलित है। बाली के राज्यपाल ने कहा कि उन्हें उत्तराखण्ड से स्नेह है। इससे पहले भी 2007 एवं 2014 में उत्तराखण्ड की यात्रा पर आये हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र को बाली आने लिए निमंत्रित भी किया।

इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक, मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य सलाहकार नवीन बलूनी, सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर, अपर सचिव ज्योति खैरवाल, निदेशक संस्कृति बीना भट्ट एवं बाली प्रांत के पदाधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY