Home स्वास्थ्य कार्यशाला का आयोजन – डेंगू से बचाव को जागरूकता पर दिया जोर

कार्यशाला का आयोजन – डेंगू से बचाव को जागरूकता पर दिया जोर

200
0
SHARE

देहरादून/डीबीएल संवाददाता। जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन एवं निगम प्रशासन की पहल पर डेंगू निवारण के लिए बनाई गई कार्ययोजना को अमलीजामा पहनाने के लिए पुलिस लाइन में कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला में शिक्षा, स्वास्थ्य, पुलिस, सिविल डिफेंस, फायर, होमगार्ड एवं राजस्व विभाग के 1000 से अधिक कार्मिकों ने प्रतिभाग किया।

मंगलवार को पुलिस लाइन में आयोजित इस कार्यक्रम में नगर निगम देहरादून के मेयर सुनील उनियाल गामा ने डेंगू रोकथाम, पहचान, फाॅगिंग, दवा छिड़काव, स्वच्छता एवं प्लास्टिक हटाओ जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर जनमानस में जनजागरूकता फैलाने के लिए जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन की मुहिम को सराहनीय बताया। उन्होंने कहा कि सामाजिक प्रयासों से डेंगू निवारण व प्लास्टिक निषेध पर लोगों को अधिकाधिक जागरूक किया जाय। इस अवसर पर मुख्य नगर आयुक्त विनय शंकर पाण्डेय ने उपस्थित लोगों से सहयोग करने की अपील करने के साथ ही सभी विभागों के कार्मिकों की टीमें, नगर निगम देहरादून के सभी 100 वार्डों में जाकर डेंगू से बचने के उपायों की जानकारी देंगे, जिससे आमजनमानस में व्याप्त डेंगू के भय को दूर किये जाने में मदद मिलेगी। 

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अरूण मोहन जोशी ने सभी पुलिस कार्मिकों को डेंगू निवारण हेतु गठित टीमों के साथ सहयोग कर जनजागरूकता का कार्य करने को कहा। इस क्रम में उन्होंनें सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों/कर्मचारियों से इस अभियान को सफल बनाने के लिए अपना रचनात्मक सहयोग देने की अपील की ताकि सभी सहयोग से डेंगू का सफाया किया जा सके। 

मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ एसके गुप्ता एवं राज्य समन्वयक डाॅ पंकज ने डेंगू रोकथाम के लिए चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा चलाये जा रहे कार्यक्रमों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि डेंगू बरसात के मौसम में माह जुलाई से अक्टूबर तक फैलता है। उन्होंने डेंगू के लक्षणों के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने डेंगू के लार्वा का समूल नष्ट किये जाने के लिए घर-घर जाकर जनमानस को जानकारी उपलब्ध कराये जाने पर जोर दिया। उन्होंने बताया कि डेंगू के उपचार के लिए कोई खास दवा व वैक्सीन नही होती है। बुखार उतरने के लिए पैरासीटामोल लिया जा सकता है। एस्प्रीन या इबुब्रेफेन का इस्तेमाल न किया जाय। उन्होंने बताया कि डेंगू के रोगी को प्लेटलेट्स की आवश्यकता होती है ऐसी स्थिति होने पर चिकित्सक की सलाह ली जाय।

इस अवसर पर नगर मजिस्ट्रेट अभिषेक रोहिला, पुलिस अधीक्षक देहात प्रमेन्द्र डोभाल, पुलिस अधीक्षक यातायात प्रकाश चन्द्र आर्य, अपर जिलाधिकारी प्रशासन रामजीशरण शर्मा, उप जिलाधिकारी अवधेष कुमार, संगीता कन्नौजिया, सोनिया पंत, पुलिस क्षेत्राधिकारी लोकेन्द्र सिंह अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. केके सिंह सहित सम्बन्धित विद्यालयों के शिक्षक, पुलिस, होमगार्ड एवं सिविल डिफेंस के जवानों के साथ ही सम्बन्धित विभगों के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन सीओ सिटी सुधीर नौटियाल ने किया।

LEAVE A REPLY