Home अपना दून अरुण जेटली का एम्स में निधन, पीएम मोदी ने कहा, ‘अहम दोस्त...

अरुण जेटली का एम्स में निधन, पीएम मोदी ने कहा, ‘अहम दोस्त खो दिया’

528
0
SHARE

देहरादून/डीबीएल संवाददाता। बीते नौ अगस्त से अरुण जेटली एम्स में इलाज करा रहे थे. एम्स की प्रवक्ता आरती विज ने मीडिया के लिए जारी प्रेस रिलीज में बताया है कि जेटली ने शनिवार को दोपहर 12 बजकर सात मिनट पर अंतिम सांस ली.

भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बताया है कि जेटली का अंतिम संस्कार रविवार दोपहर बाद दिल्ली के निगम बोध घाट पर होगा.

नड्डा ने बताया, “उनके पार्थिव शरीर को उनके घर ले जाया जा रहा है. कल (रविवार) सुबह 10 बजे के करीब उनके पार्थिव शरीर को बीजेपी मुख्यालय ले जाया जाएगा जहां लोग उनके अंतिम दर्शन कर सकेंगे. दोपहर बाद उनका अंतिम संस्कार निगमबोध घाट पर किया जाएगा. “

जेटली जब इलाज के लिए एम्स में थे, तब भारतीय जनता पार्टी के नेता उनका हालचाल लेने लगातार अस्पताल पहुंच रहे थे.

पिछले सप्ताह शनिवार शाम को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह जेटली का हालचाल जानने एम्स पहुंचे थे. इससे पहले 9 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन उन्हें देखने के लिए अस्पताल पहुंचे थे.

नौ अगस्त को ही सांस लेने में समस्या के चलते अरुण जेटली को नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती किया गया था. उन्हें आईसीयू में रखा गया था.

इस साल मई में जेटली ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर कहा था कि स्वास्थ्य कारणों से वो नई सरकार में कोई ज़िम्मेदारी नहीं चाहते हैं. उन्होंने लिखा था कि बीते 18 महीनों से उन्हें स्वास्थ्य समस्याएं हैं जिसके कारण वह कोई पद नहीं लेना चाहते हैं.

वकालत से राजनीति में आए अरुण जेटली बीजेपी के दिग्गज नेताओं में शुमार रहे.

अरुण जेटली दिल्ली एवं ज़िला क्रिकेट संघ डीडीसीए के अध्यक्ष भी रहे.

नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अरुण जेटली को श्रद्धांजलि देते हुए लगातार चार ट्वीट किया.

उन्होंने लिखा, “मैंने एक अहम दोस्त खो दिया है, जिन्हें दशकों से जानने का सम्मान मुझे प्राप्त था. मुद्दों पर उनकी समझ बहुत अच्छी थी. वो हमें अनेक सुखद स्मृतियों के साथ छोड़ गए. हम उन्हें याद करेंगे.”

 

With the demise of Arun Jaitley Ji, I have lost a valued friend, whom I have had the honour of knowing for decades. His insight on issues and nuanced understanding of matters had very few parallels. He lived well, leaving us all with innumerable happy memories. We will miss him!

— Narendra Modi (@narendramodi) 24 अगस्त 2019

पोस्ट ट्विटर समाप्त @narendramodi

प्रधानमंत्री मोदी ने ये भी लिखा कि बीजेपी और अरुण जेटली के बीच एक ना टूटने वाला बंधन था. उनके मुताबिक, “एक तेजस्वी छात्र नेता के तौर पर उन्होंने आपातकाल के समय हमारे लोकतंत्र की सबसे आगे होकर रक्षा की थी. वो हमारी पार्टी के लोकप्रिय चेहरा थे. जिन्होंने समाज के अलग-अलग तबकों तक पार्टी के कार्यकर्मों और विचारों को स्पष्ट रूप से पहुंचाया.”

 

BJP and Arun Jaitley Ji had an unbreakable bond. As a fiery student leader, he was at forefront of protecting our democracy during the Emergency. He became a much liked face of our Party, who could articulate the Party programmes and ideology to a wide spectrum of society.

— Narendra Modi (@narendramodi) 24 अगस्त 2019

During his long political career, Arun Jaitley Ji held multiple ministerial responsibilities, which enabled him to contribute towards India’s economic growth, strengthening our defence capabilities, creating people friendly laws and enhancing trade with other nations.

— Narendra Modi (@narendramodi) 24 अगस्त 2019

Full of life, blessed with wit, a great sense of humour and charisma, Arun Jaitley Ji was admired by people across all sections of society. He was multi-faceted, having impeccable knowledge about India’s Constitution, history, public policy, governance and administration.

— Narendra Modi (@narendramodi) 24 अगस्त 2019

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अरुण जेटली के असामयिक निधन पर गहरा दुख और पीड़ा व्यक्त की है.

कांग्रेस के ट्वीटर हैंडल पर सोनिया गांधी का संदेश साझा किया गया. जिसमें लिखा था अरुण जेटली की मृत्यु पर दुख जताते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि जेटली ने एक सार्वजनिक व्यक्ति, सांसद और मंत्री के रूप में लंबी पारी खेली और सार्वजनिक जीवन में उनके योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा.

 

Congress President Smt. Sonia Gandhi shares a condolence message for Shri Arun Jaitley. pic.twitter.com/19sEA2900u

— Congress (@INCIndia) 24 अगस्त 2019

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर अरुण जेटली को श्रद्धांजलि दी है. उन्होंने लिखा, “जेटली जी को हमेशा अर्थव्यवस्था को संकट से निकालने और पटरी पर लाने के लिए याद किया जाएगा. बीजेपी को अरुण जी की कमी खलेगी. मैं उनके परिवार के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं.”

Jaitleyji will always be remembered for pulling the economy out of the gloom and putting it back on the right track.

The BJP will miss Arunji’s presence. I extend my heartfelt condolences to his bereaved family.

— Rajnath Singh (@rajnathsingh) 24 अगस्त 2019

राजनाथ सिंह ने कहा, “अरुण जेटली जी ने कई क्षमताओं में देश की सेवा की और वो सरकार और पार्टी के लिए एक संपत्ति की तरह थे. हर मुद्दे पर उनकी गहरी समझ होती थी. उन्होंने अपने ज्ञान और बात करने के स्पष्ट तरीके की बदौलत कई दोस्त बनाए.”

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट कर अरुण जेटली के निधन पर शोक व्यक्त किया है और इसे अपनी निजी क्षति बताया है.

अरुण जेटली जी के निधन से अत्यंत दुःखी हूँ, जेटली जी का जाना मेरे लिये एक व्यक्तिगत क्षति है।

उनके रूप में मैंने न सिर्फ संगठन का एक वरिष्ठ नेता खोया है बल्कि परिवार का एक ऐसा अभिन्न सदस्य भी खोया है जिनका साथ और मार्गदर्शन मुझे वर्षो तक प्राप्त होता रहा।

— Amit Shah (@AmitShah) 24 अगस्त 2019

पोस्ट ट्विटर समाप्त @AmitShah

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट किया, “श्री अरुण जेटली के निधन से बहुत दुखी हूं. उन्होंने साहस और गरिमा के साथ लंबी बीमारी से जंग लड़ी. एक प्रतिभाशाली वकील, अनुभवी सांसद और प्रतिष्ठित मंत्री के रूप में उन्होंने राष्ट्र के निर्माण में बड़ा योगदान दिया.”

मौजूदा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्वीट किया, “श्री अरुण जेटली के जाने से हुई क्षति को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता. हममें से कईयों के मेंटर, मार्गदर्शक और एक नैतिक सहयोग और ताक़त देने वाले शख़्स. एक बड़े दिल वाले उम्दा इंसान. हर वक्त किसी की भी मदद के लिए तैयार. उनकी बुद्धिमत्ता, दूरदर्शिता, निपुणता का कोई मुक़ाबला नहीं कर सकता.”

 

No words can describe the loss of Shri @arunjaitley. A mentor to many of us, a guide and a moral support and strength. Have learnt so much from him. A fine large-hearted person. Always ready to help anyone/everyone. His intelligence, sagacity, astuteness have no match.

— Nirmala Sitharaman (@nsitharaman) 24 अगस्त 2019

 

Extremely saddened by the passing of Shri Arun Jaitley after battling a long illness with fortitude and dignity. A brilliant lawyer, a seasoned parliamentarian, and a distinguished Minister, he contributed immensely to nation building.

— President of India (@rashtrapatibhvn) 24 अगस्त 2019

कांग्रेस पार्टी ने अपने हैंडल से ट्वीट कर श्रद्धांजलि व्यक्त की है, “हम श्री अरुण जेटली के निधन से बेहद दुखी हैं. हमारी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं.”

We are deeply saddened to hear the passing of Shri Arun Jaitley. Our condolences to his family. Our thoughts and prayers are with them in this time of grief. pic.twitter.com/7Tk5pf9edw

— Congress (@INCIndia) 24 अगस्त 2019

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, “पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ नेता श्री अरुण जेटली का असमय निधन देश के लिए बड़ी क्षति है. एक दिग्गज वकील और अपने सुशासन के लिए जाने जाने वाले वरिष्ठ राजनेता को देश याद करेगा. इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं.”

 

Untimely demise of former FM and senior leader Sh Arun Jaitley ji is a huge loss to the nation. A legal luminary and an experienced political leader known for his governance skills will be missed by the country. Thoughts and prayers with his family in this moment of grief. RIP

— Arvind Kejriwal (@ArvindKejriwal) 24 अगस्त 2019

 

LEAVE A REPLY