Home उत्तराखंड भारी बर्फवारी से चकराता के 40 गांवों में जनजीवन अस्त-व्यस्त

भारी बर्फवारी से चकराता के 40 गांवों में जनजीवन अस्त-व्यस्त

774
0
SHARE

डीबीएल संवाददाता/देहरादून। चकराता में इस सीजन की तीसरी सबसे अधिक बर्फबारी दर्ज की गई है। इस दौरान पहाड़, सड़क और पर्यटकों के वाहन भारी बर्फ से ढक गए। साल की सबसे अधिक बर्फबारी और मौसम की खराबी के चलते विद्युत और दूरसंचार आपूर्ति ठप हो गई। साथ ही 40 गांवों का संपर्क भी जिला मुख्यालय से कट गया है।

उत्तराखण्ड में मंगलवार को चार धाम समेत सैकड़ों गांव बर्फ की सफेद चादर से ढक गए है। केदारनाथ धाम में सोमवार से बर्फबारी शुरू हुई और यह बर्फबारी मंगलवार की देर शाम तक जारी रही। भारी बर्फबारी के चलते कई स्थानों पर पर्यटकों के वाहन भी बर्फ मे फंसे दिखाई दिए तो वहीं चकराता सहित लोंखड़ी, देवबन, मुन्ड़ाली, मोल्टा, मोइला टॉप, खड़म्भा, बूधेर, कान्डी धार चोटियों में भारी बर्फबारी होने से गांव के लोग घरों में ही रहे।

चकराता त्यूणी मोटर मार्ग लोखंडी के लगभग 40 गांवों का तहसील और जिला मुख्यालय से संम्पर्क कट गया। वहीं किसानों को बर्फबारी से फलों में राहत मिलने की संभावना है। इस बर्फबारी के कारण किसानों के चेहरे खिल गए। इस बर्फवारी के मौसम से सेब, नाशपाती, खुमानी आदि फसलों को लाभ मिलेगा।

LEAVE A REPLY