Home उत्तराखंड रिस्पना नदी के किनारे शनिवार को 4 हजार लोग करेंगे पौधरोपण

रिस्पना नदी के किनारे शनिवार को 4 हजार लोग करेंगे पौधरोपण

661
0
SHARE

देहरादून। दून की रिस्पना नदी के किनारे किये जाने वाले पौधरोपण कार्यक्रम का शुभारंभ 19 मई को होगा। अभियान की सफलता के लिए जिलाधिकारी एसए मुरूगेशन की अध्यक्षता में नोडल अधिकारियों, सैक्टर अधिकारियों और ब्लाक सैक्टर अधिकारियों के साथ बैठक में मंथन किया गया। कार्यक्रम में लगभग 4 हजार लोगों के प्रतिभाग करने की सम्भावना है।

डीएम मुरूगेशन ने कार्यक्रम से जुड़े अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए जिन अधिकारियों एवं कर्मचारियों को जो दायित्व एवं जिम्मेदारी सौंपी गयी है उसका निर्वहन पूरी तत्परता के साथ करें। डीएम ने कहा कि अभियान में प्रतिभाग करने वाले संस्थाओं की सूची उपलब्ध कराते हुए उन्हें नियत समय पर आयोजन स्थल तक पहुंचाया जाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि 19 मई को आयोजित किये जाने वाले कार्यक्रम के लिए पार्किंग व्यवस्था के लिए भी स्थान चिन्ह्ति कर लिया जाए। बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी को चिकित्सा टीम के साथ एम्बुलेंस सहित आयोजन स्थल पर उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए। डीएम ने जल संस्थान के अधिकारियों को निर्देश दिये कि कार्यक्रम स्थल पर पीने के पानी की व्यवस्था सुनिश्चित कर ली जाय। आयोजन के दौरान यातायात व्यवस्था को सुव्यवस्थित करने के लिए पुलिस अधीक्षक यातायात कों आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए।

डीएम ने बताया कि इस रिस्पना संरक्षण अभियान को सफल बनाने के लिए कार्यक्रम में लगभग 4 हजार लोगों के प्रतिभाग करने की सम्भावना है। वेस्ट वेरियर संस्था, उत्तरांचल आयुर्वेदिक कालेज रायपुर, उत्तरांचल यूनिवर्सिटी, यूपीईएस, पेस्टलविड स्कूल, होम गार्ड, एसएसबी, आर्डिनेंस फैक्टरी, वन निगम, पुलिस, स्पोर्टस कालेज, बीएसएफ, एसडीआरएफ, सैंट जोर्ज स्कूल, आईटीबीपी, ओनएनजीसी, सिविल डिफेंस, स्कालरहोम, मैड संस्था, सहित जनपद स्थित विभिन्न स्कूल कालेज एवं स्वंय सेवी संस्थाओं सहित विभिन्न विभागों द्वारा प्रतिभाग किया जायेगा। डीएम ने बताया कि कार्यक्रम का शुभारंभ सुबह 7.00 बजे से किया जायेगा।

बैठक में नगर मजिस्ट्रेट मनुज गोयल, मुख्य विकास अधिकारी जी.एस रावत, सेना के अधिकारी, प्रभागीय वनाधिकारी मसूरी, देहरादून परियोजना निदेशक डीआरडीए राजेन्द्र रावत, सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY