Home सामाजिक सरोकार उत्तराखंड उर्जा निगम में 240 करोड़ घोटाला प्रकरण : अनूप ने फिर...

उत्तराखंड उर्जा निगम में 240 करोड़ घोटाला प्रकरण : अनूप ने फिर उठाई सीबीआई जांच की मांग

1027
0
SHARE

देहरादून। समाज सेवी एवं जनसरोकारों से जुड़े मुद्दों के लिए आवाज बुलंद करने के लिए पहचाने जाने वाले अनूप नौटियाल ने उत्तराखंड ऊर्जा निगम में ट्रॉंसफार्मर खरीद में 240 करोड़ के घोटाले की सीबीआई जांच करवाये जाने की मांग एक बार फिर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से की है। उन्होंने कहा है कि वह लगातार अपनी इस मांग को सम्बंधित जांच एजेंसियों सहित प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तक के संज्ञान में ला चुके हैं लेकिन घोटाले के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य होने के बावजूद उन्हें अभी मामले में कार्यवाही का इंतजार है। अनूप ने कहा है कि यदि समय रहते यदि उत्तराखंड ऊर्जा निगम में बेखौफ तरीके से हो रहे भ्रष्टाचार को रोका नहीं गया तो घाटे में जा रहे निगम की वित्तीय हानि का खर्च बढ़ी हुई बिजली की दरों के रूप में राज्य की जनता को ही भोगना पड़ेगा।

प्रदेश की नई भाजपा सरकार के मुखिया त्रिवेन्द्र सिंह रावत के प्रदेश में भ्रष्टाचार को खत्म करने के संकल्प पर अनूप नौटियाल ने उन्हें बधाई देते हुए अपेक्षा जताई है कि प्रदेश के अवरुद्ध हो चुके विकास को गतिमान करने के लिए भ्रष्टाचार से जुड़े सभी मामलों पर उनकी सरकार त्वरित कार्यवाही करेगी। उत्तराखंड ऊर्जा निगम में 240 करोड़ के घोटाले की सीबीआई जांच की मांग एक बार फिर से मुख्यमंत्री रावत से करते हुए उन्होंने पूर्व में मामले को लेकर कई स्तरों पर की गई सीबीआई जांच की अपनी मांग का हवाला भी दिया है।

उत्तराखंड ऊर्जा निगम में टॉंसफार्मर की सप्लाई करने वाली कंपनियों के बारे में भी धोखाधड़ी का साक्ष्य देते हुए अनूप नौटियाल ने मामले में पीएमओ की ओर से संज्ञान लिए जाने की बात से भी सीएम रावत को अवगत कराया है। अनूप ने कहा है कि उत्तराखंड ऊर्जा निगम में टॉंसफार्मर डील से जुड़ी उक्त कंपनी के सम्बंध में विश्व बैंक की एक रिपोर्ट में घोटाले की रिपोर्ट सामने आने के बाद गुयाना की सरकार ने कंपनी के साथ स्पेशलिटी अस्पताल निर्माण के 13.8 मिलियन अमरीकी डॉलर के करार को समाप्त कर दिया था।

Key Words : Uttarakhand, Dehradun, Scam case, Uttarakhand Energy corporation, CBI Probe

LEAVE A REPLY