Home उत्तराखंड परेशानी – जौनसार बावर के 250 गांवों में 24 घंटे बिजली रही...

परेशानी – जौनसार बावर के 250 गांवों में 24 घंटे बिजली रही ठप

630
0
SHARE

साहिया। 33केवी लाइन में फाल्ट आने से बीते मंगलवार को जौनसार बावर के 250 गांव अंधेर में डूब गए। 24 घंटे बाद बुधवार को ऊर्जा निगम के कर्मचारियों ने बिजली सूचारू की, जिससे उपभोक्ताओं ने राहत की सांस ली है। बुधवार की सुबह के समय सरकारी कामकाज भी प्रभावित रहे। कई इलाकों में इसका असर पानी की आपूर्ति पर भी पड़ा।

बीते मंगलवार की शाम तीन बजे बाड़वाला के पास 33केवी लाइन में फाल्ट आने से चकराता, साहिया, त्यूनी और सावड़ा फीडर से जुड़े चकराता, साहिया, त्यूनी, कोरवा, कोटी, गोराघाटी, सावरा, जाडी, सुजऊ, कंधाड़, सिजला, जोगियो समेत करीब 250 गांव अंधेरे में डूब गए। लोगों को अंधेरे में रात काटनी पड़ी जिससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

बिजली गुल होने से सुबह के समय त्यूनी स्थित गूंडा गांव, राणा कालोनी, गेट बाजार, पीडब्लयूडी कालोनी, तहसील कॉलोनी क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति भी बाधित रही। सहायक अभियंता योगेश कुमार ने बताया कि फाल्ट को ढूंढ कर शाम तीन बजे बिजली आपूर्ति बहाल कर दी गई।

चार दशक पुरानी है बिजली लाइन :

उपभोक्ता तीर्थ कुकरेजा, राहुल चांदना, केशर चौहान, अमित अरोड़ा, आनंद राणा, हरबंश कुकरेजा आदि का कहना है कि कालसी से लेकर त्यूनी तक बिछाई गई बिजली लाइन चार दशक पुरानी हो चुकी है। उनका कहना है कि अक्सर हल्की-सी हवा चलने या फिर बारिश, बर्फबारी होने पर लाइन में फाल्ट आ जाता है, जिससे उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ता है। उन्होंने बिजली की लाइन को दुरूस्त करने की मांग उठाई है।

Key Words : Uttarakhand, Sahiya, Jounsar Bawar, No Electicity, villages

LEAVE A REPLY